Nirbhaya convict

निर्भया के दोषी का एक बड़ा आरोप, कहा- तिहाड़ प्रशासन ने दिया था धीमा जहर

निर्भया के दोषियों की फांसी का दिन जैसे- जैसे नजदीक आ रहा है वैसे ही दरिंदों ने फांसी से बचने के लिए जो नया उपाय ढूंढकर अदालत का रुख रख रहे हैं। शनिवार को जब पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई हुई तो अभियोजन पक्ष ने अदालत को सूचित किया कि तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने दोषियों के वकील द्वारा मांगे गए सभी संबंधित दस्तावेज उन्हें पहले ही मुहैया करा दिए हैं। अभियोजन ने दिल्ली की अदालत को बताया कि दोषी विलंब की तरकीब अपना रहे हैं। वहीं दोषियों ने आज अदालत में तिहाड़ प्रशासन पर एक बड़ा आरोप लगा दिया है। दोषियों के वकील ने कहा कि तिहाड़ में दोषी विनय शर्मा को धीमा जहर दिया गया और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन कोई चिकित्सा रिपोर्ट नहीं दी जा रही।

दोषियों के वकील एपी सिंह ने शुक्रवार को फिर पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दायर कर तिहाड़ जेल प्रशासन पर आरोप लगाया है कि दोषियों के लिए सुधारात्मक और दया याचिका दायर करने के लिए जरूरी दस्तावेज देने में देरी की जा रही है। वहीं तिहाड़ जेल के प्रवक्ता राजकुमार का कहना है कि वकील को व्हाट्सएप और ई-मेल पर कागजात भेजे जा चुके हैं। एपी सिंह के कार्यालय पर भी जेलकर्मी कागजात लेकर गया था लेकिन उनका कार्यालय बंद था। बता दें चारों दोषियों को पटियाला हाउस कोर्ट से जारी किए गए नए डेथ वारंट के तहत एक फरवरी की सुबह 6 बजे फांसी दी जानी है।