jammu kashmir

हिज्बुल कमांडर समेत 5 आतंकी ढेर

जम्मू/श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों ने 5 आतंकियों को मार गिराया। आतंकियों के शवों के साथ हथियार व गोला-बारूद भी बरामद किया गया। मुठभेड़ के दौरान अफवाहों पर रोक लगाने के लिए इलाके में मोबाइल इंटरनैट सेवाओं पर रोक लगा दी गई। मुठभेड़ खत्म होने के बाद भी इलाके को घेरकर तलाशी अभियान चलाया गया। मारे गए आतंकियों में एक हिज्बुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर भी शामिल है।  शुक्र वार को सुरक्षाबलों को सूचना मिली थी कि शोपियां जिले के रेबन गांव में आतंकी छिपे हैं। सूचना के आधार पर सेना की 1-आर.आर., सी.आर.पी.एफ. की 178 बटालियन और एस.ओ.जी. के जवानों ने इलाके को गिरने के बाद तलाशी शुरू की। आतंकियों के साथ संपर्क होने के बाद जवानों द्वारा उन्हें सरेंडर करने की पेशकश की गई लेकिन जवानों की बात को अनसुना करते हुए आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने भी मोर्चा संभालते हुए जवाबी कार्रवाई की, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। इस भीषण मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने 5 आतंकियों को मार गिराया। दूसरी तरफ से फायरिंग बंद होने के बाद आतंकियों के ठिकाने की तलाशी ली गई तो वहां से शवों के साथ हथियार व गोला-बारूद भी बरामद किया गया।

मुठभेड़ से पहले लोगों को सुरिक्षत स्थान पर पहुंचाया  
वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने 5 आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि करते हुए कहा कि इस मुठभेड़ से पहले सुरक्षाबलों के आसपास रहने वाले सभी लोगों को सुरिक्षत स्थानों पर पहुंचाया। इस बात का खास ख्याल रखा गया कि आतंकियों और सुरक्षाबलों की फायरिंग के बीच कोई स्थानीय नागरिक न आए। मारे गए आतंकियों में से एक की पहचान फारूक अहमद नल्ली निवासी कुलगाम के रूप में हुई है। वह हिज्बुल मुजाहिदीन का जिला कमांडर था और 2015 से सक्रि य था। बाकी आतंकियों की पहचान के लिए पुलिस व सुरक्षा एजैंसियां छानबीन कर रही है।