World Dream Day,dainik savera

World Dream Day : यहां जानिए सपनों से जुड़ी अद्भुत बातें, असल ज़िंदगी से होता है गहरा नाता

सपने हर इंसान देखता है। माना जाता है के जो प्रिक्रिया हम सारे दिन में करते है वह हमें सपनों में दिखाई देते है। माना यह भी जाता है के सपनों का मन से गहरा रिश्ता होता है। मन जितना निर्मल और पारदर्शी होगा, सपने भी उतने ही स्पष्ट और सुलझे हुए दिखाई देंगे। आज विश्व स्वप्न दिवस है। तो आइए जानते है सपनों से जुड़ी कुछ खास बातें :

1. मनोविज्ञान, आयुर्वेद, ज्योतिष और योग में अच्‍छे या बुरे सपने दिखाई देने के कई कारण बताए गए हैं। जब हम कोई स्वप्न देखते हैं तो जरूरी नहीं कि प्रत्येक सपने का अच्छा या बुरा फल होता है। उसका कुछ भी फल नहीं होता या कुछ भी मतलब नहीं होता है।

2. अधिकतर सपने हमें हमारी दिनचर्या में किए गए कार्य से प्राप्त होते हैं। कार्य का अर्थ हमने जो देखा, सुनना, समझा, इच्छा किया और भोगा वह हमारे चित्त में विराजित होकर रात में स्वप्नों के रूप में दिखाई देता है।

3. यह सब बदले स्वरूप में इसलिए भी होते हैं क्योंकि वे हमारे शरीर में स्थित भोजन और पानी की स्थिति और अवस्था से भी संचालित होते हैं।

4. दृष्ट- जो जाग्रत अवस्था में देखा गया हो उसे स्वप्न में देखना।

5. श्रुत- सोने से पूर्व सुनी गई बातों को स्वप्न में देखना।

6. अनुभूत- जो जागते हुए अनुभव किया हो उसे देखना।

7. प्रार्थित- जाग्रत अवस्था में की गई प्रार्थना की इच्छा को स्वप्न में देखना।

8. दोषजन्य- वात, पित्त आदि दूषित होने से स्वप्न देखना।

9. भाविक- जो भविष्य में घटित होना है, उसे देखना।

10. कई लोगों को रात में ढंग से नींद नहीं आती और आती भी है तो बुरे बुरे सपनों के कारण नींद खुल जाती है। अक्सर सांप के सपने, भूत प्रेत के सपने आते हैं या कुछ ऐसे सपने आते हैं जिसके चलते डर लगा रहता है।

11. कहते हैं कि सोने वाले बिस्तर के नीचे काले कपड़े में फिटकरी बांधकर रखें। इससे बुरे स्वप्न आना, नींद में चमकना या किसी अनजान भय से व्यक्ति मुक्त हो जाता है। किसी भी मंगलवार या रविवार के दिन फिटकरी का एक टुकड़ा बच्चे के सिरहाने रख दें। रात में बच्चे को सोते समय बुरे स्वप्न नहीं आएंगे और न ही बच्चा चमकेगा या चिखेंगा।

12. प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करते रहें। धीरे-धीरे आपको बुरे स्वप्न आना दूर हो जाएंगे। सोने से पूर्व प्रतिदिन कर्पूर जलाकर सोएंगे तो आपको बेहद अच्‍छी नींद आएगी और साथ ही हर तरह का तनाव खत्म हो जाएगा। कर्पूर के और भी कई लाभ होते हैं।

13. 12 बजे से पूर्व देखा गया स्वप्न मन की विकृति होने के कारण अर्थहीन होता है, अत: भूल जाएं कि इसका कोई फल मिलेगा। 12 से 1 बजे तक- ऐसे सपनों का फल 3 वर्ष के अंतर्गत होता है। 1 से 2 बजे तक- इनका फल 1 वर्ष के बीच प्राप्त होता है। 3 से 4 बजे तक- इन सपनों का फल 6 महीने में मिलता है। 4 से 5 बजे तक-
इस दौरान देखे स्वप्न 3 महीनों में फलदायक हैं। 5 से 6 बजे प्रात:- ऐसे सपनों के फलीभूत होने का समय 1 महीना है। प्रात: आंख खुलने से तुरंत पूर्व के स्वप्नों को दृष्टांत कहा जाता है। ऐसे सपने भाग्यशाली व्यक्तियों को आते हैं जिनका मन स्वस्थ एवं स्थिर होता है। प्रात: कालीन स्वप्न सीधे रूप में भविष्यवाणी या भावी दर्शन का रूप होते हैं।

14. देवी के दर्शन करना- किसी रोग से मुक्ति। देवी सीता- पहले कष्ट मिले फिर समृद्धि हो। देवी राधा को देखना- शारीरिक सुख मिले। देवी लक्ष्मी को देखना- धन-धन्य की प्राप्ति हो।

15. दरवाजा खुला देखना - किसी बड़े से मित्रता हो। दरवाजा बंद होना- परेशानियां
मिलना। खेती देखना - संतान-प्राप्ति हो। भूकंप देखना - संतान को कष्ट एवं दुख हो। सीढ़ी देखना - बुरा संग हो। खाई देखना - धन एवं प्रसिद्धि मिले। कैंची देखना - घर में कलह हो। धुआं देखना - हानि एवं विवाद हो।

Live TV

Breaking News


Loading ...