WTC Final

WTC Final: न्यूज़ीलैंड ने रचा इतिहास, भारत को हराकर बना पहला ICC World Test champion

साउथम्पटन: अपने शीर्ष तेज गेंदबाज टिम साउदी की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के लाजवाब प्रदर्शन से न्यूज़ीलैंड ने भारत को आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के छठे और आखिरी दिन बुधवार को दूसरी  पारी  में 170 रन पर समेट दिया जिससे उसे विश्व टेस्ट चैंपियन बनने के लिए 139 रन का लक्ष्य मिला और इस लक्ष्य को उसने 45.5 ओवर में दो विकेट पर 140 रन बनाकर पहला आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियन बनाने का गौरव हासिल कर लिया। 

न्यूज़ीलैंड का यह पहला विश्व टेस्ट खिताब है। केन विलियम्सन ने इस जीत के साथ विराट कोहली का पहला आईसीसी खिताब जीतने का सपना तोड़ दिया।  विराट को 2019 में इंग्लैंड में हुए विश्व कप के सेमीफाइनल में न्यूज़ीलैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। भारत का 2013 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीतने के बाद अगला  आईसीसी खिताब जीतने का इंतजार लगातार बढ़ता  जा रहा है। 

इस फ़ाइनल में एक अतिरिक्त दिन छठे और रिज़र्व दिन  के रुप में जोड़ा गया था। मैच में पहले और चौथे दिन का खेल पूरी तरह बारिश से धुल गया था और बाकी तीन दिन भी बारिश से बाधा रही थी लेकिन मैच के छठे और रिज़र्व दिन मौसम पूरी तरह साफ़ रहा और न्यूज़ीलैंड ने भारत को दूसरी पारी में 170 रन पर निपटाकर खिताब अपने नाम कर लिया। 

लक्ष्य का पीछा करने उतरे न्यूज़ीलैंड को ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने पहली दो सफलताएं लेकर दो शुरुआती झटके दिए लेकिन कप्तान विलियम्सन ने रॉस टेलर के साथ 96 रन की बेहतरीन अविजित साङोदारी कर पहला विश्व टेस्ट चैंपियनशिप खिताब न्यूज़ीलैंड की झोली में डाल दिया।  

अश्विन ने टॉम लाथम को ऋषभ पंत के हाथों स्टंप कराया और फिर डेवोन कॉनवे को पगबाधा कर दिया।  लाथम ने नौ रन बनाये जबकि कॉनवे ने 47 गेंदों में 19 रन बनाये।  अश्विन ने विलियम्सन को पगबाधा कर दिया था लेकिन कीवी कप्तान ने डीआरएस लिया और अम्पायर  को अपना  फैसला  बदलना  पड़ा। विलियम्सन ने इसके बाद कप्तानी पारी खेलते हुए 89 गेंदों में आठ चौकों की मदद से नाबाद 52 रन बनाये जबकि विजयी चौका लगाने वाले टेलर ने 100 गेंदों  में छह चौकों की मदद से अविजित 47 रन बनाये।  

Live TV

-->

Loading ...