WHO, Warning, Covid Omicron

WHO ने Omicron के बेहद गंभीर नतीजों को लेकर जारी की चेतावनी

नई दिल्ली : विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोविड-19 के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बेहद गंभीर नतीजों को लेकर चेतावनी जारी की है। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि ओमिक्रॉन से संक्रमण फैलने का खतरा और जोखिम बहुत अधिक है। विश्व स्वास्थ्य निकाय ने एक बयान में कहा कि ओमिक्रॉन के अप्रत्याशित तौर पर कई सारे स्पाइक प्रोटीन हैं। इनमें से कुछ ऐसे हैं कि जो संक्रमण का तेजी से प्रसार कर बड़ी आपदा में तब्दील हो सकते हैं।

डब्लूएचओ ने कहा कि ओमिक्रॉन उच्च संख्या में उत्परिवर्तन यानी म्यूटेंट पैदा करने की क्षमता रखता है, जिसमें 26 से 32 म्यूटेंट भी हो सकते हैं और इनमें से कुछ चिंता का विषय हैं।  वैश्विक स्वास्थ्य निकाय ने कहा कि हालांकि, अभी भी इस नए वैरिएंट को लेकर काफी अनिश्चितताएं हैं। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि वैश्विक स्तर पर ओमाइक्रोन के संभावित प्रसार की संभावना अधिक है। इसने कहा है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट पूरी दुनिया में तेजी से फैल सकता है। इसलिए इसने सभी देशों से वैक्सीनेशन में तेजी लाने का अनुरोध किया है। साथ ही सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं को इन आपदाओं से निपटने के लिए तैयार करने को कहा गया है। 

बता दें कि इस कोविड-19 वैरिएंट का पहला मामला दक्षिण अफ्रीका में पता चला था, लेकिन अब यह करीब 12 देशों में फैल चुका है। वैश्विक स्वास्थ्य निकाय ने आगे कहा कि कोविड-19 के मामलों में भविष्य में उछाल हो सकता है, जिसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं, यह कई कारकों पर निर्भर करता है, जिसमें वृद्धि हो सकती है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि नए वैरिएंट से संबंधित समग्र वैश्विक जोखिम बहुत अधिक है। सदस्य राज्यों के लिए प्राथमिकता वाली कार्रवाइयों को निर्धारित करते हुए, निकाय ने ओमिक्रॉन सहित सार्स-सीओवी-2 वैरिएंट को बेहतर ढंग से समझने के लिए निगरानी और अनुक्रमण (सीक्वेंसिंग) प्रयासों को बढ़ाने पर जोर दिया। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि इसमें यह पता लगाने के लिए सामुदायिक परीक्षण शामिल होना चाहिए कि ओमिक्रॉन समुदाय स्तर पर घूम रहा है या नहीं।

डब्ल्यूएचओ के अनुसार कोविड टीकाकरण कवरेज में तेजी लाना जरूरी है। इसने कहा है कि विशेष रूप से उच्च प्राथमिकता के रूप में नामित आबादी के बीच, जो अभी तक पूरी तरह से टीका नहीं लगाया गया है या अभी तक पूरी तरह से टीकाकरण नहीं किया गया है, को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए। इसने मास्क का उपयोग, शारीरिक दूरी, इनडोर स्थान का वेंटिलेशन, भीड़ से बचाव और हाथ की स्वच्छता पर जोर दिया है। स्वास्थ्य निकाय ने कहा कि ओमिक्रॉन वैरिएंट के उद्भव के साथ ही इस प्रकार की सावधानियां ही सार्स सीओवी-2 के संचरण को कम करने की कुंजी है। डब्ल्यूएचओ ने सदस्य देशों को संक्रमण फैलने की श्रृंखला को तोड़ने के लिए कोविड-19 मामलों के संपर्क का पता लगाने की सलाह दी है।




Live TV

-->

Loading ...