वास्तु शास्त्र

Vastu shastra: वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में फैला कर न रखें, वरना घर में बढ़ सकते है रोग और कलेश

हिन्दू धर्म के अनुसार वास्तु शास्त्र का बहुत अधिक महत्त्व माना गया है। पहले के समय में लोग वास्तु शास्त्र को नहीं मानते थे लेकिन आज के समय वास्तु शास्त्र को बहुत अधिक मान्यता दी जाती है। आज कल को अपने घर को भी वास्तु शास्त्र के अनुसार बनाते है और उसकी के हिसाब से अपने घर की चीज़े रखते है। लेकिन क्या आप ये जानते है के वास्तु शास्त्र के अनुसार कुछ चीज़ो को घर पर बिखेर कर नहीं रखना चाहिए। उससे आपके घर में रोग और कलह कलेश बढ़ सकता है। तो आइए जानते है कौन सी है वो चीज़े :

आधुनिकता के दौर में घर बिजली और इलेक्ट्रानिक उपकरणों से भरा हुआ रहने लगा है. लैपटॉप, मोबाइल, कम्प्यूटर के अलावा फ्रिज, टीवी, रेडियो, टेलिफोन जैसे तमाम उपकरण घर में मौजूद रहते हैं. इन सभी उपकरणों का प्रयोग सुविधा अवश्य बढ़ाता है लेकिन घर में इनका बेतरतीब फैला होना और आवश्यकता से अधिक संख्या में होना कलह को बढ़ावा देता है.

कोशिश करें कि घर में पुराने मोबाइल, चार्जर, केबल एवं अन्य अनुपयोगी उपकरण इकट्ठा न होने पाएं. इनसे नकारात्मक उूर्जा निकलती है. इससे परिवार के लोग तनावग्रस्त होने लगते हैं. घर में आवश्यक उपकरण ही रखें. उचित जगह पर पूरी व्यवस्था के साथ रखें. इन उपकरणों को ढंककर रखना ज्यादा बेहतर है.

इसी प्रकार घर में दवाइयों को खुले में न रखें. इकट्ठा कर सेल्फ में व्यस्थित ढंग से रखें. जिस प्रकार महत्वपूर्ण कागजों की फाइलिंग की जाती है उसी प्रकार दवाइयों की संख्या अधिक होने पर उन्हें सजह मिल जाने की युक्ति के साथ रखें. खुले या टेबल पर पड़ीं दवाइयों रोग को दूर करने से कहीं ज्यादा रोग को दावत देती हैं. एक रोग मिटता है तो दूसरा लगने की आशंका बढ़ा देती हैं. जितनी जरूरी हो उतनी दवा खरीदें. अनावश्यक स्टोर करने की आदत से बचें.

दवाइयां रासायनिक होती हैं. राहु-केतु के रसायनों के प्रतिनिधि हैं. दवाइयों या अन्य रासायनिक पदार्थाें को खुले में रखना राहु-केतु के प्रभाव को बढ़ाना है. इससे घर में रोगों के बढ़ने की आशंका बढ़ जाती है.

Live TV

Breaking News


Loading ...