Akshaya Tritya

आज मनाया जा रहा है तृतीया का पर्व वैशाख, आज के दिन अवश्य खरीदे सोना

आज अक्षय तृतीया का पर्व वैशाख मास मनाया जा रहा है। आज के दिन सभी शुभ कार्य बिना पंचांग को देखे किये जा सकते हैं। माना जाता है कि इस दिन जो भी कार्य किये जाते हैं वह बहुत ही फलदायी होते हैं। इस दिन भूमि पूजन, गृह प्रवेश, धार्मिक कार्य से लेकर विवाह तक सभी कार्य किये जाते हैं। मान्यता यह भी है कि इस दिन सोना खरीदना बहुत ही शुभ और फलदायी होता है। इन दिन अगर आप सोना खरीदते है तो वह पीढ़ियों के साथ बढ़ता है। इस लिए यह मान्यता है कि इस दिन सोना जरूर खरीदना चाहिए। आइए अब जानते है इसके शुभ मुहूर्त और पूजा विधि के बारे में :

अक्षय तृतीया शुभ मुहूर्त
तृतीया तिथि का आरंभ: 14 मई 2021 को प्रात: 05 बजकर 38 मिनट से.
तृतीया तिथि का समापन: 15 मई 2021 को प्रात: 07 बजकर 59 मिनट तक.
अक्षय तृतीया पूजा मुहूर्त: प्रात: 05 बजकर 38 मिनट से दोपहर 12 बजकर 18 मिनट तक
अवधि: 06 घंटा 40 मिनट

पूजा विधि
अक्षय तृतीया के दिन भगवान विष्णु और लक्ष्मी जी का पूजन किया जाता है. इस दिन भगवान विष्णु और लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा- अर्चना करने पर भक्त की सभी मनोकामनायें पूर्ण होती है. शास्त्रों का मत है कि इस दिन पितरों का तर्पण करना बहुत ही लाभदायक होता है.

अक्षय तृतीया के दिन व्रती को चाहिए कि सुबह उठकर नित्यकर्म, स्नानादि करके पूजा स्थल पर बैठ जाएँ. पूजा चुकी पर भगवान विष्णु और लक्ष्मी जी की प्रतिमा /चित्र के साथ धन कुबेर का चित्र आदि स्थापित कर, उन्हें पूजन सामग्री अर्पित करें. अब तीनों देवी-देवताओं को केला, नारियल, पान सुपारी, मिठाई और जल चढ़ाएं. कुछ देर भगवान के सामने हाथ जोड़कर उनकी प्रार्थना करें और उनका आर्शीवाद मांगे.

अक्षय तृतीया से जुड़ी खास बातें
ऐसे मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन ही भगवान परशुराम जी का जन्म हुआ था. यह भी मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन ही भगवान विष्णु के चरणों से धरती पर गंगा अवतरित हुई थीं. इसके अलावा अक्षय तृतीया से ही सतयुग, द्वापर और त्रेतायुग के आरंभ की गणना की गई है.

   


Live TV

Breaking News


Loading ...