Corona

कोरोना की ट्रेसबिलिटी पर अनुचित अटकलों से अंतर्राष्ट्रीय महामारी रोधी सहयोग कमजोर होगा

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने 30 नवंबर को आयोजित नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि तथ्यों का सम्मान करना और विज्ञान पर जोर देना कोरोना वायरस की ट्रेसबिलिटी और सभी वैज्ञानिक अनुसंधानों की बुनियादी आवश्यकताएं हैं। इस मुद्दे पर पूर्व निर्धारित निष्कर्ष निकालना, विशेष रूप से अनुचित अटकलों से वैश्विक वैज्ञानिक वायरस की ट्रेसबिलिटी में हस्तक्षेप होगा और अंतर्राष्ट्रीय महामारी-विरोधी सहयोग भी कमज़ोर होगा। 
  
 हाल ही में, अमेरिकी राष्ट्रीय एलर्जी और संक्रामक रोग संस्थान के निदेशक एंथोनी फौसी ने एक साक्षात्कार में कहा कि चीन में नवंबर 2019 या उससे पहले कोरोना महामारी शुरु हुई। उन्होंने यह भी कहा कि साउथ चाइना सीफूड मार्केट को कीटाणुशोधन किये जाने का उद्देश्य  यह "सुनिश्चित करना है कि उंगली अपने आप निर्देशित नहीं है।" 
  
 इस पर चीनी प्रवक्ता ने कहा कि हमें श्री फौसी की टिप्पणी पर खेद है। पर्यावरण कीटाणुशोधन महामारी की रोकथाम और नियंत्रण का एक महत्वपूर्ण साधन है। विशेष रूप से यह इंगित करने की आवश्यकता है कि चीन के रोकथाम और नियंत्रण उपायों और अनुभवों ने महामारी की रोकथाम और नियंत्रण के लिए दुनिया की प्रमुख रक्षा लाइनों को बनाए रखा है, और विभिन्न देशों के लिए महामारी का मुकाबला करने के लिए मूल्यवान समय जीता है।
   
उन्होंने जोर देते हुए कहा कि महामारी की शुरूआत से अब तक चीन हमेशा वैज्ञानिक, पारदर्शी और जिम्मेदार रवैये के साथ वैश्विक ट्रेसेबिलिटी वैज्ञानिक सहयोग में भाग लेता है। चीन द्वारा किए गए कार्यों ने वैश्विक वैज्ञानिक ट्रेसेबिलिटी के लिए एक अच्छी नींव रखी है और इतिहास की परीक्षा का सामना कर सकता है।
(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)

Live TV

-->

Loading ...