Transfer of 57 Inspectors

Gorakhpur के 8 SOs सहित हुआ 57 दारोगा व निरीक्षकों का Transfer

गोरखपुर (उत्तर प्रदेश) : ए.डी.जी. जोन अखिल कुमार और डी.आई.जी. रेंज जे. रविन्द्र गौड़ ने 57 निरीक्षक और दारोगा का तबादला कर द‍िया। सूची में गोरखपुर में तैनात 8 थानेदारों का नाम शामिल हैं। इस दौरान प्रभारी निरीक्षक बड़हलगंज मनोज कुमार राय का महराजगंज, प्रभारी निरीक्षक कैंट सुधीर कुमार स‍िंह को कुशीनगर, रामगढ़ताल थानेदार जगत नारायण स‍िंह, महिला थाना प्रभारी अर्चता स‍िंह का तबादला देवरिया, बेलीपार एस.एच.ओ. नीरज कुमार राय का कुशीनगर, बांसगांव के थानेदार राणा देवेंद्र स‍िंह और पिपराइच के एस.एच.ओ. सूर्यभान स‍िंह को बस्ती रेंज, एस.एस.पी. के रीडर जयदीप कुमार वर्मा, पी.आर.ओ. उपेन्द्र मिश्र, गगहा में तैनात अपराध निरीक्षक रामभवन यादव का देवरिया और क्राइम ब्रांच में तैनात सत्य सान्याल शर्मा को कुशी नगर भेजा गया है। ज्ञात हो कि एस.एस.पी. ने इसके एक द‍िन पूर्व 20 दारोगा का कार्यक्षेत्र बदल द‍िया था। इस दौरान कइयों को चौकी इंचार्ज बनाया गया तो कइयों को थाने पर भेज दिया गया था।

इस दौरान ए.डी.जी. ने लंबित मामले का निस्तारण कराने के लिए आपरेशन तफ्तीश शुरू कराया है। आंकड़ों पर गौर करें तो गोरखपुर जोन में कुल 10297 मामले लंबित हैं, जिसमें गोरखपुर में सबसे ज्यादा 3625 और श्रावस्ती में सबसे कम 293 मामले की विवेचना का निस्तारण होना शेष है। उन्होंने कहा कि जालसाजी, हत्या, लूट के मामले की विवेचना का निस्तारण लंबे समय से न हो पाने की वजह से पुलिस की भूमिका पर सवाल उठते रहे हैं। इसके निस्तारण के लिए ए.डी.जी. ने लंबित चल रही विवेचना की सूची तैयार कराई है। 

इस दौरान सभी कप्तान को निर्देश दिए हैं कि अपने पर्यवेक्षण में जिले में लंबे समय से लंबित विवेचना का निस्तारण प्राथमिकता के आधार पर कराएं, ताकि लोगों को त्वरित न्याय मिल सके। इस दौरान उन्होंने कहा कि मुकदमा दर्ज होने के बाद विवेचनाओं का शीघ्र निस्तारण न होने से लोगों का पुलिस पर भरोसा कम होता है और पीड़ित अधिकारियों के यहां चक्कर लगाकर परेशान होता है। इसके लिए ए.डी.जी. जोन अखिल कुमार ने जुलाई में आपरेशन तफ्तीश शुरू कराया, जिसमें पुराने मामलों का निस्तारण करना था।

Live TV

Breaking News


Loading ...