Good Friday

आज गुड फ्राइडे पर आप भी जानिए इसका महत्व और इतिहास

गुड फ्राइडे हर साल पुरे विश्व में बहुत ही धूम धाम के साथ मनाया जाता है। आज भी पुरे विश्व में इस पर्व को मनाया जा रहा है। इसे हर साल प्रभु ईसा मसीह की याद में मनाया जाता है। इस दिन लोग चर्च जाते है और प्रार्थना करते है। इस दिन गिरिजाघरों और चर्चों में प्रभु यीशु के बलिदान को याद किया जाता है।आज गुड फ्राइडे पर हम आपको इसके महत्व और इतिहास के बारे में बताने जा रहे है। 

प्रभु यीशु ने प्रेम और करूणा का संदेश दिया था. रोम के राजा के आदेश पर कलवारी में शुक्रवार को यीशु मसीह को सूली पर लटका दिया गया था. क्योंकि अंधविश्वास और झूठ फैलाने वाले धर्मगुरुओं को उनकी बढ़ती लोकप्रियता से परेशानी होनी लगी थी. उनके विचार लोगों को प्रभावित कर रहे थे. इन सब को देखकर कुछ स्वार्थी लोगों ने बादशाह को भड़काना आरंभ कर दिया. जिसके बाद प्रभु यीशु को सूली पर टांगने का आदेश दिया गया. प्रभु यीशु ने अपना संपूर्ण जीवन लोगों के कल्याण के लिए समर्पित कर दिया था.

गुड फ्राइडे के तीसरे दिन यानी रविवार के दिन प्रभु यीशु पुन: जीवित हो गए थे और 40 दिन तक लोगों के बीच जाकर उपदेश देते रहे. प्रभु यीशु के दोबारा जीवित होने की इस घटना को ईस्टर संडे के रूप में मनाया जाता है. इस बार ईस्टर संडे 4 अप्रैल को मनाया जाएगा. इस दिन प्रात:काल प्रार्थना की जाती है. क्योंकि इसी समय प्रभु यीशु का पुनरुत्थान हुआ था. इसे सनराइज सर्विस भी कहा जाता है. गुड फ्राइडे के दिन ईसा के अंतिम सात वाक्यों को याद किया जाता है

Live TV

Breaking News


Loading ...