China social governance

विशिष्ट वसंत त्योहार से चीन के सामाजिक शासन में आया सुधार झलकता है

वसंत त्योहर चीनी राष्ट्र का सबसे अहम परंपरागत त्योहार है। चीनी लोग उसे पारिवारिक मिलन का सबसे भव्य वक्त मानते हैं। चाहे रास्ते कितना भी दूर क्यों न हो, चीनी लोग आम तौर पर घर वापस जाते हैं। इस दौरान लोगों की आवाजाही का पैमाना विश्व भर में सबसे ज्यादा है।

इस साल कोविड-19 महामारी के मद्देनजर बड़े पैमाने वाली आवाजाही से बचने के लिए बहुत ही चीनी लोग स्वेच्छा से सरकार की अपील के मुताबिक गृहस्थल नहीं गये। एक पड़ताल के अनुसार 77 प्रतिशत प्रवासी मजदूरों ने काम स्थल पर वसंत त्योहार मनाने का फैसला किया।

वसंत त्योहार के पूर्व चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग क्वईचो प्रांत के निरीक्षण दौरे में खासकर एक स्थानीय सुपर मार्केट गये। उन्होंने नागरिकों से वसंत त्योहर की वस्तुएं खरीदने की स्थिति जानी और स्थानीय सरकार से आम लोगों के अमन चेन से नया साल बिताने की मांग की।

चीन के विभिन्न क्षेत्रों ने शक्तिशाली कदम उठाकर बाजार की पर्याप्त सप्लाई और दामों की स्थिरता को सुनिश्चित की और लक्षित नीतियां भी प्रस्तुत कीं, ताकि गृहस्थल न जाने वाले लोग भी त्योहार की खुशियां मना सकें। कुछ क्षेत्रों में भत्ते, मुफ्त वाउचर, मुफ्त मोबाइल डेटा, रंगबिरंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम इत्यादि भेंट किये गये।   

कहा जा सकता है कि कोविड-19 महामारी की परीक्षा के बाद चीन में सामाजिक शासन का स्तर काफी उन्नत हुआ है। जब सख्त शासन की जरूरत थी, तो जल्दी से सख्त शासन लागू किया गया। जब खुलने का वक्त आया, तो व्यवस्थित रूप से खोला गया। यह राष्ट्रीय शासन स्तर का प्रतिबिंब है ।

सामाजिक शासन के सुधार के साथ चीनी नागरिकों की जिम्मेदारी बोध भी सराहनीय है। यह समग्र सामाजिक सभ्यता की प्रगति है। (साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)


Live TV

-->

Loading ...