corona

हिसार में कोरोना की दूसरी लहर मचा रही तांडव, एक की मौत

जिले में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने तांडव मचा दिया है। एक दिन पहले 135 मामलों के बाद शुक्रवार को फिर सौ का आंकड़ा पार हो गया है। आज फिर 105 नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ एक संक्रमित की मौत हो गई है। जिले में शुक्रवार को कुल संक्रमित 17991 हो गई है। इसके अलावा ठीक हुए मरीजों की संख्या बीते 24 घंटों में 37 हुई है। जिले में कुल ठीक होने वाली की संख्या 17132 हो गई है। इसी के साथ कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट में भी तेजी से कमी आने के साथ बीते 24 घंटों से आंकड़ा घटकर 95.23 फीसद पर पहुंच गया है जबकि सक्रिय मरीजों की संख्या 519 हो गई है।
जिले में कोरोना से 340 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना महामारी के मद्देनजर जिले में कोरोना सैंपलिंग का आंकड़ा 4 लाख 113 हजार के पार हो गया है। पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण का ग्राफ बढ़ा है, जो कि एक चिंताजनक बात है। डीसी का कहना है कि 45 वर्ष से उपर के सभी नागरिक जल्द से जल्द अपना वैक्सीनेशन करवाएं। वैक्सीनेशन कार्यक्रम को
लेकर नागरिक बिना किसी डर के आगे आएं और वैक्सीनेशन करवाकर स्वयं को व अपने पूरे परिवार को सुरक्षित करें। कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर उपायुक्त डॉ प्रियंका सोनी ने शुक्रवार को लघु सचिवालय सभागार में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान दिन- प्रतिदिन बढ़ रहे
कोरोना ग्राफ के संक्रमण तथा मृत्यु दर के आंकड़ों की गहनता से समीक्षा की गई। उपायुक्त ने बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से कहा कि कोरोना से लड़ाई की रणनीति में अपेक्षित सुधार किया जाना आवश्यक है। 

कोरोना का सैंपल लेने से व्यक्ति को समय पर उपचार देने के समय को न्यूनतम करना प्राथमिकता होनी चाहिए, ताकि संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से और अधिक व्यक्ति संक्रमित न हों। इसी प्रकार से कोरोना पॉजिटिव के संपर्कों को जल्द से जल्द चिह्नित करना और उनका सैंपल लेना बहुत आवश्यक है। बैठक के दौरान उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने जिला में कोविड को लेकर सभी जरूरी सुविधाओं की उपलब्धता को लेकर भी समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि सैंपलिंग बढ़ाकर कोरोना संक्रमितों को चिह्नित किया जाए और कोविड प्रसार को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएं। होम आइसोलेशन के मरीजों की
चिकित्सकों द्वारा नियमित देखरेख की जानी चाहिए। यदि होम आईसोलेशनके मरीज के ईलाज में लापरवाही हुई तो संबंधित सीएचसी अधिकारी की जवाब देही सुनिश्चित करते हुए उस पर कार्रवाई की जाएगी। 

Live TV

Breaking News


Loading ...