Teacher . suspended

अध्यापक पर लगे नाबालिग छात्रओं से अश्लील हरकतें करने के आरोप, सस्पैंड

सुंदरबनी : गुरु  और शिष्य के रिश्ते को कलंकित करने वाले आरोप सुंदरबनी के दूरदराज ग्रामीण क्षेत्र के बरनाडा हाई स्कूल के एक अध्यापक पर स्थानीय लोगों द्वारा लगाए गए। गंदी हरकतों के आरोप में एक अध्यापक को चीफ एजुकेशन ऑफिसर राजौरी ने सस्पैंड कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार गांव बरनाडा के स्थानीय गांव का एक शिष्टमंडल पूर्व सरपंच तीर्थ राम की अगुवाई में बरनाडा स्कूल में बिगड़ी व्यवस्थाओं को लेकर हल्ला बोल दिया। गांव वासियों ने तीखे अल्फाजों में आरोप लगाते कहा कि स्कूल में एक अध्यापक स्कूली छात्रओं से अश्लील हरकतें पिछले कुछ दिनों से कर रहा है, जिसका विरोध करते छात्रओं ने घर में इस बात की जानकारी अपने परिजनों को दी। छात्रओं द्वारा अध्यापक की इस हरकत की जानकारी जब परिजनों को मिली तो परिजन गांववासियों संघ स्कूल पहुंचे, जहां पर भारी शोर-शराबा करते हुए गांववासियों ने आरोप लगाते कहा कि सभ्य समाज में ऐसे अध्यापक की कोई जरूरत नहीं है। पूर्व सरपंच तीर्थ राम ने आरोप लगाते कहा कि अध्यापकों ने स्कूल को अय्याशी का अड्डा बना लिया है। अपनी मनमर्जी से अध्यापक स्कूल आते हैं और अपनी मनमर्जी से लौट जाते हैं। कोई पूछने वाला नहीं है और ग्रामीण क्षेत्र में बच्चों का भविष्य अंधकार में पड़ चुका है। सरकारी स्कूलों में बिगड़ी व्यवस्थाओं के लिए शिक्षा विभाग जिम्मेदार है। उच्च पदों पर बैठे अधिकारी जमीनी सत्ता की हकीकत जानने में नाकाम साबित हो रहे हैं। उन्होंने उच्च पदों पर बैठे अधिकारियों से ऐसे मामलों को गंभीरता से लेने की अपील करते कहा कि अगर बहुत जल्द सरकारी स्कूलों की दशा को सुधारने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया तो वह दिन दूर नहीं जब सरकारी स्कूल बंद हो जाएंगे। वहीं स्कूल प्रधानाचार्य द्वारा जब फोन पर अध्यापक से ऐसी हरकतों को लेकर पूछा गया तो उन्होंने बताया कि मुङो इस मामले की कोई जानकारी नहीं है मेरे ऊपर गलत आरोप लगाए जा रहे हैं। मुङो साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। मामला सामने आने के बाद मंगलवार को अतिरिक्त जिला विकास आयुक्त सुंदरबनी विनोद कुमार बेनहाल ने स्कूल का दौरा कर स्थानीय लोगों और स्कूल प्रशासन के साथ बैठक की। उन्होंने लोगों को आश्वासन देते कहा कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

Live TV

Breaking News


Loading ...