Sukhpal Khaira resignation as MLA

विधायक पद से Sukhpal Khaira का इस्तीफा मंजूर, भोलाथ सीट खाली

चंडीगढ़ : पंजाब विधानसभा अध्यक्ष ने भोलाथ के विधायक सुखपाल सिंह खैरा का इस्तीफा मंगलवार को स्वीकार कर लिया। इसके साथ ही यह विधानसभा सीट अब खाली हो गई है। खैरा कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद दिसंबर 2015 में आम आदमी पार्टी में शामिल हुए थे और 2017 में कपूरथला की भोलाथ विधानसभा सीट से चुने गए थे।

वर्ष 2018 में पंजाब विधानसभा के विपक्ष के नेता पद से उन्हें बेवजह हटा दिए जाने के बाद, उन्होंने आप के खिलाफ विद्रोह कर दिया था और जनवरी 2019 में पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने अपनी खुद की पार्टी ‘पंजाबी एकता पार्टी’ बनाई और बठिंडा सीट से 2019 के लोकसभा चुनाव में हार गये थे। खैरा फिर आप के बागी विधायकों जगदेव सिंह कमलू और पीरमल सिंह के साथ कांग्रेस में लौट गये थे। उन्होंने तीन जून को कांग्रेस में शामिल होने से पहले विधायक के रूप में इस्तीफा दे दिया था। खैरा की कांग्रेस छोड़ने के करीब छह साल बाद घर वापसी हुई थी।

पंजाब विधानसभा द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, यह सूचित किया जाता है कि खैरा के इस्तीफे के परिणामस्वरूप पंजाब विधानसभा में भोलाथ विधानसभा क्षेत्र की सीट 19 अक्टूबर से खाली हो गई है। खैरा ने एक बयान में कहा, ‘‘मैंने कांग्रेस में शामिल होने से पहले तीन जून को विधायक के रूप में इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद, अध्यक्ष ने मुझे अपना इस्तीफा उचित प्रारूप में प्रस्तुत करने के लिए कहा था। मैंने आज व्यक्तिगत रूप से ऐसा किया। मेरा इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है।’’ आप दल-बदल निरोधक कानून के तहत खैरा को विधायक के रूप में अयोग्य ठहराने की मांग कर रही थी।




Live TV

-->

Loading ...