raksha bandhan,dainik savera

इस दिशा में बैठकर राखी बांधना पड़ सकता है महंगा, अवश्य पढ़े ये खबर

इस बार रक्षा बंधन का त्योहार 22 अगस्त को मनाया जा रहा है। इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती है। माना जाता है के रक्षा बंधन के दिन अपने भाई को राखी बांधने से पांच देवताओं को राखी बांधनी चाहिए। इससे भाई बहन का प्यार बढ़ता है और दोनों का रिश्ता मजबूत होता है। लेकिन क्या आप जानते है के शास्त्रों के अनुसार इस दिन सही दिशा में बैठ कर राखी बांधने से बहुत से फायदे मिलते है। तो आइए जानते है के हमें किस दिशा की और मुंह करके राखी बांधनी चाहिए :

1. येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल:।
तेन त्वां अभिबन्धामि रक्षे मा चल मा चल।।

यदि बहन अपने भाई को राखी बांध रही है तो बहन को पश्‍चिम में मुख करके भाई के ललाट पर रोली, चंदन व अक्षत का तिलक लगाते हुए उपरोक्ति मंत्र का उच्चारण करना चाहिए।जाता है।

शास्त्रों के अनुसार रक्षा सूत्र बांधे जाते समय उपरोक्त मंत्र का जाप करने से अधिक फल मिलता है। भाई को पूर्वाभिमुख, पूर्व दिशा की ओर बिठाएं। बहन का मुंह पश्चिम दिशा की ओर होना चाहिए।

इसके बाद भाई के माथे पर टीका लगाकर दाहिने हाथ पर रक्षा सूत्र बांधे। रक्षा सूत्र बांधते समय उपरोक्त मंत्र का उच्चारण करें।

2. येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल:।
तेन त्वां रक्षबन्धामि रक्षे मा चल मा चल ||

यदि आप शिष्य या शिष्या अपने किसी गुरु को बांध रहे हैं रक्षा सूत्र तो उपरोक्त मंत्र है। ध्यान से देखने पर दोनों मंत्रों में अंतर नजर आएगा।



Live TV

Breaking News


Loading ...