Sharad Pawar, Maharashtra Governor, meet Kangana, but not farmers

महाराष्ट्र के राज्यपाल पर पवार का वार, बोले- कंगना से मिलने का वक्त है लेकिन किसानों से नहीं

कृषि कानूनों के किलाफ देश भर के किसान विरोध कर रहे हैं। पंजाब-हरियाणा के किसान कल दिल्ली में इस कानून के विरोध में ट्रैक्टर परेड़ निकालने वाले हैं। वहीं दिल्ली के बाद मुंबई में भी किसानों ने तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आवाज बुलंद की है। सोमवार को मुंबई के आजाद मैदान में हजारों की संख्या में किसान जुटे हैं। पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री एवं एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार समेत राज्य के कई नेता भी इस महारैली में शामिल हुए। इस दौरान शरद पवार ने केंद्र पर जमकर निशाना साधा।

आजाद मैदान में हो रही रैली में किसानों की इस सभा में शरद पवार ने कहा कि केंद्र ने बिना किसी चर्चा के कृषि कानूनों को पास कर दिया, जो संविधान के साथ मजाक है। अगर सिर्फ बहुमत के आधार पर कानून पास करेंगे तो किसान आपको खत्म कर देंगे, ये सिर्फ शुरुआत है। वहीं उन्होंने महाराष्ट्र के राज्यपाल पर निशाना साधते हुए कहा- महाराष्ट्र ने ऐसा राज्यपाल पहले कभी नहीं देखा है। उसके पास कंगना (रनौत) से मिलने का समय है लेकिन किसानों से मिलने का नहीं। यहां आने और आपसे मिलने के लिए राज्यपाल की नैतिक जिम्मेदारी थी।

Live TV

-->

Loading ...