Keshav Prasad Maurya, Kalyan Singh, Ram Mandir, Uttar Pradesh News

राममंदिर तक जाने वाले मार्ग समेत 5 जिलों में कल्याण सिंह के नाम पर होगी सड़क

लखनऊः उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने 5 जिलों में सड़कों का नाम पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह मार्ग करने का फैसला किया है। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सोमवार को घोषणा की है कि अयोध्या में राम जन्मभूमि की ओर जाने वाली एक सड़क का नाम पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के नाम पर रखा जाएगा। इसके अलावा लखनऊ, प्रयागराज, बुलंदशहर और अलीगढ़ में भी एक-एक सड़क का नाम उनके नाम पर रखा जाएगा। केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि स्वर्गीय बाबूजी ने राम मंदिर के लिए सत्ता छोड़ दी, लेकिन कारसेवकों पर गोली नहीं चलाई। राम भक्त कल्याण सिंह सदैव अमर रहेंगे। उनका निधन भारतीय राजनीति एवं भाजपा के लिए अपूरणीय क्षति है।

बता दें कि, कल्याण सिंह का शनिवार रात लखनऊ के संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एसजीपीजीआई) में निधन हो गया। वह 89 वर्ष के थे। अलीगढ़ में महारानी अहिल्याबाई होल्कर स्टेडियम से पार्थिव शरीर को लेकर काफिला पैतृक गांव अतरौली के लिए रवाना हो चुका है। मुख्यमंत्री योगी भी काफिले के साथ ही चल रहे हैं। अतरौली में उनकी पार्थिव देह को एनेक्सी भवन में रखा गया है। उनकी पार्थिव देह का अंतिम संस्कार आज शाम बुलंदशहर में नरौरा के बंसी घाट पर होगा। कल्याण सिंह के निधन पर प्रदेश सरकार ने 3 दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। सोमवार को सार्वजनिक अवकाश का भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया है। यानी आज प्रदेश के सारे सरकारी कार्यालय, स्कूल, कॉलेज बंद रहेंगे। 

उल्लेखनीय है कि कल्याण सिंह राम मंदिर आंदोलन के प्रमुख नेताओं में शुमार थे और 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या स्थित विवादित ढांचा गिराए जाने के वक्त उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे। इस घटना के बाद कल्याण सिंह ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। कल्याण सिंह को पिछली 4 जुलाई को संक्रमण एवं स्वास्थ्य संबंधी कुछ अन्य समस्याएं होने पर एसजीपीजीआई के गहन चिकित्सा कक्ष में भर्ती कराया गया था। उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।

Live TV

Breaking News


Loading ...