Dainik Savera News, Chandigarh Municipal Corporation elections, Congress and BJP, Rebellion

Chandigarh नगर निगम के 24 दिसंबर को होने वाले चुनाव को लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच शुरू हुई बगावत

चंडीगढ़ : नगर निगम के 24 दिसंबर को होने वाले चुनाव में नामांकन दाखिल करने का कल  (शनिवार) को अंतिम दिन है, वहीं पर कांग्रेस, भाजपा द्वारा जारी की गई सूची के बाद दोनों पार्टियों में खुलकर बगावत शुरू हो गई है। जहां पर भाजपा में वार्ड-२९ में जिला अध्यक्ष रविंद्र पठानिया को टिकट देने का जमकर विरोध हुआ है, वहीं पर भाजपा मंडल-9 की पूरी ईकाई बागी हो गई है। इसी प्रकार कांग्रेस के संगठन सचिव नवीन गुप्ता व सचिव जोकि पूर्व अध्यक्षों के सपूत्र रामशरण गुप्ता हैं, ने पार्टी से अलविदा करने की घोषणा कर दी है। कांग्रेस के संगठन सचिव नवीन गुप्ता वार्ड-11 से व सचिव रामशरण गुप्ता वार्ड-18 से टिकट मांग रहे थे। 

नवीन गुप्ता चंडीगढ़ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कुलभूषण गुप्ता व रामशरण गुप्ता पूर्व अध्यक्ष श्यामलाल गुप्ता के सुपुत्र हैं। वार्ड नंबर 9 से भाजपा के पूर्व पार्षद अनिल दुबे की पत्नी को टिकट दिए जाने पर नाराजगी जाहिर कर चुके पूर्व सरपंच गुरप्रीत सिंह हैप्पी द्वारा नाराजगी जहर किए जाने पर उन्हें मनाने के लिए भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद गांव दड़वा पहुंचे और रुष्ट नेताओं से बातचीत कर उन्हें पार्टी आलाकमान का निर्णय सर्वोपरि मानने की अपील की। 

गौरतलब है कि वार्ड नंबर 9 की सीट महिला के लिए रिजर्व है, इस आरक्षित सीट पर पूर्व सरपंच गुरप्रीत सिंह हैप्पी का खासा दबदबा है और लंबे अरसे से टिकट के लिए प्रयासरत हैं। महिला सीट आरक्षित होते ही हैप्पी ने अपनी पत्नी के लिए टिकट की मांग की थी। किंतु टिकट अनिल दुबे की पत्नी को मिल गई।पार्टी के इस निर्णय से आहत होकर गुरप्रीत सिंह हैप्पी ने असंतोष जताते हुए इस्तीफा दे दिया। हैप्पी ने नगर निगम चुनाव में बतौर आजाद प्रत्याशी के तौर पर अपनी दावेदारी पेश करने के लिए बातचीत हेतु अपने समर्थकों को बुलाया। वह अपने समर्थकों से विचार विमर्श कर ही रहे थे कि उसी दौरान चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद ने वहां पहुंच कर उन्हें मनाने में जुट गए परंतु अंत में इस बैठक का कोई नतीजा नहीं निकला। गुरप्रीत सिंह हैप्पी ने अपनी पत्नी को आजाद उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ाने का ऐलान कर दिया ।

Live TV

-->

Loading ...