Karnal mahapanchayat, Rakesh Tikait

Karnal प्रशासन और किसानों की बैठक बेनतीजा, राकेश टिकैत बोले- महापंचायत होकर रहेगी

करनाल: करनाल में किसानों और जिला प्रशासन की बैठक बेनतीजा रही है। किसानों का कहना है कि सरकार उनकी बात नहीं सुन रही है। करीब 11 प्रतिनिधियों ने इस मीटिंग में हिस्सा लिया था। किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि हमारे पास कोई रास्ता नहीं बचा है, ऐसे में महापंचायत में ही जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार चाहे तो हमें गिरफ्तार कर ले, लेकिन महापंचायत में ही बात होगी।

बता दें कि जिला प्रशासन ने किसानों की 11 सदस्यी कमेटी को बातचीत के लिए बुलाया था। इस कमेटी में मुख्य रूप से किसान नेता राकेश टिकैत, राजनीतिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव, विकास सीसर, डॉ. दर्शन पाल, भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता गुरनाम सिंह चढ़ुनी, योगेंद्र यादव, बीकेयू अध्यक्ष बलबीर सिंह राजेवाल, बीकेयू (सिद्धूपुर) के प्रदेश अध्यक्ष सदस्य जगजीत सिंह डल्लेवाल, रामपाल चहल, कॉमरेड इंद्रजीत सिंह इत्यादि शामिल हैं।

11 सदस्यीय किसान कमेटी ने सचिवालय में करनाल के उपायुक्त को अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में किसानों ने 28 अगस्त को प्रदर्शन कर रहे किसानों पर लाठीचार्ज का आदेश देने वाले आईएएस अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग दोहराई। लाठीचार्ज में सिर में चोट लगने और बाद में दिल का दौड़ा पड़ने से घरौंदा के किसान सुशील काजल की मौत हो गई थी, जिसके परिजनों को मुआवजा देने की मांग की गई।

Live TV

-->

Loading ...