Property, MLAs, Puducherry

पुडुचेरी में फिर से चुनाव लड़ रहे विधायकों की संपत्ति 5 साल में 17 फीसदी बढ़ी

नई दिल्लीः पुडुचेरी विधानसभा चुनावों में वर्ष 2016 और 2021 के बीच फिर से चुनाव लड़ रहे निर्दलीय विधायकों सहित 21 विधायकों की संपत्ति में 17 प्रतिशत (औसत वृद्धि 1.61 करोड़ रुपये) की वृद्धि हुई है। पुडुचेरी इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने पुडुचेरी विधानसभा चुनाव 2021 में फिर से किस्मत आजमा रहे इन 21 विधायकों के स्व-शपथ पत्रों का विश्लेषण करने के बाद यह डेटा साझा किया।

इसमें कहा गया है कि फिर से चुनाव लड़ रहे इन 21 विधायकों की औसत संपत्ति 2016 में 9.56 करोड़ रुपये थी। 2021 में इन विधायकों की औसत संपत्ति अब 11.17 करोड़ रुपये है। 2016 और 2021 के पुडुचेरी विधानसभा चुनाव के बीच इन विधायकों की संपत्ति की औसत वृद्धि 1.61 करोड़ रुपये है। कराईकल उत्तर निर्वाचन क्षेत्र से ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस के पीआरएन थिरुमुरुगन की संपत्ति में सर्वाधिक वृद्धि हुई है। 2016 में उनकी संपत्ति 13.02 करोड़ रुपये से बढ़कर 2021 में 26.53 करोड़ रुपये हो गई, यानी उनकी संपत्ति में 13.51 करोड़ रुपये की वृद्धि हुई।

थाटांचावडी निर्वाचन क्षेत्र से ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस के एन. रंगासामी की संपत्ति 2016 में 29.53 करोड़ रुपये से बढ़कर 2021 में 38.39 करोड़ रुपये हो गई है, यानी उनकी संपत्ति में 8.86 करोड़ रुपये की वृद्धि दर्ज की गई। मुदलियारपेट निर्वाचन क्षेत्र से अन्नाद्रमुक के ए. बसकर की संपत्ति 2016 में 10.67 करोड़ रुपये से बढ़कर 2021 में 16.28 करोड़ रुपये हो गई है। इसके अलावा विलियनूर से डीएमके के आर. शिवा की संपत्ति 5.05 करोड़ रुपये बढ़ी है। यह 2016 में 15.70 करोड़ रुपये से 2021 में 20.75 करोड़ रुपये हो गई है। विलियनूर खंड से श्री मणकुला विनायगा एजुकेशनल ट्रस्ट के उपाध्यक्ष एसवी सुगुमरन की संपत्ति में 3.89 करोड़ रुपये की वृद्धि हुई है। साल 2016 में उनकी संपत्ति 12.53 करोड़ रुपये से बढ़कर 2021 में 16.42 करोड़ रुपये तक पहुंच गई। पुडुचेरी की 30 सीटों के लिए 6 अप्रैल को मतदान होगा। मतगणना 2 मई को होनी है।




Live TV

-->

Loading ...