Prem Singh Chandumajra

Prem Singh Chandumajra ने पार्टी ट्रांसपोर्ट विंग की घोषणा की, ट्रक ड्राइवरों के लिए एक ही टैक्स का दिया आश्वासन

चंडीगढ़ : शिरोमणी अकाली दल ने आज अपनी ट्रांसपोर्ट विंग की घोषणा की तथा वादा किया कि राज्य में अकाली दल की सरकार बनने के बाद कांग्रेस सरकार द्वारा ट्रक यूनियनों को भंग करे शुरू किया सिंडीकेट सिस्टम खत्म किया जाएगा तथा पार्टी ने आश्वासन दिया कि विभिन्न विभागों के हाथों शोषण  समाप्त करने के लिए ट्रक डाइवरों से  एक ही टैक्स सिस्टम लागू किया जाएगा। 

यहां एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए पूर्व सांसद प्रोफेसर प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने ट्रांसपोर्ट यूनियन को तोड़कर सिंडिकेट बनाकर अपने चहेतों को ट्रांसपोर्ट व्यापार का काम सौंपा है। उन्होने कहा कि नई साईटों की नीलामी में काफी भ्रष्टाचार हुआ तथा मध्यस्थ वास्तविक ट्रांसपोर्टरों  की कीमत पर बिचैलिये शासन कर रहे हैं। प्रोफेसर चंदूमाजरा ने कहा कि एक बार अकाली दल की सरकार बनते ही सिंडीकेटस का एकाधिकार खत्म हो जाएगा और सब डिवीजन में ज्वाइंट कमेटियां बनाई जाएंगी, जिसकी अध्यक्षता सब डिविजन मजिस्ट्रेट के अलावा ट्रक यूनियन तथा इंडस्ट्री के प्रतिनिधि करेंगे। उन्होने कहा कि प्रत्येक कमेटी के परिभाषित क्षेत्रों में बाहरी ट्रको  को खड़े होने की अनुमति नही दी जाएगी।

 प्रो. चंदूमाजरा ने यह भी घोषणा की कि इस समय अधिकतर टैक्स हैं जिससे ट्रक चालको को परेशानी हो रही है। उन्होने कहा कि एक बार अकाली दल ने जब सरकार का गठन किया तो यह सभी टैक्सों को एक ही बैनर के तहत लाए तथा यह सुनिश्चित करने के लिए  एक स्टीकर जारी करेगा कि ट्रको को सड़कों पर नही रोका जाए। उन्होने कहा कि सड़कों पर ट्रकों को रोकने का अधिकार किसी के पास नही होगा। पूर्व सांसद ने यह भी घोषणा की कि अकाली दल जून में एक ट्रांसपोर्टर्स कन्वेंशन का आयोजन करेेगा जिसके दौरान पार्टी राज्य के लिए भविष्य की परिवहन नीति को मजबूत करेगी। ‘ परिवहन क्षेत्र को एक ऐसा व्यवसाय माना गया है जो खेती से जुड़ा हुआ है। ऐसे समय में जब खेती कठिन समय से गुजर रही है तो हमें इस व्यवसाय को लाभप्रद बनाने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए। उन्होने उदाहरण दिया कि किस तरह कांग्रेस सरकार की विषम नीतियों के कारण राज्य में कुल 95हजार ट्रकों में से 45 हजार ट्रक खत्म को गए हैं। 

अकाली नेता ने मांग की कि जिन पुराने मिनी बस रूटों को खत्म किया गया था , उन्हे तुरंत बहाल किया जाए। उन्होने कहा कि अगर कांग्रेस सरकार ने ऐसा नही किया तो अकाली दल की सरकार बनते ही यह तुरंत बहाल करेगा। उन्होने यह भी मांग की कि सरकार स्कूल बसों, मिनी बसों तथा टैक्सियों के लिए राहत पैकेज लेकर आए जो पिछले एक साल से कोविड महामारी के कारण बुरी तरह प्रभावित हुए थे। उन्होने यह भी घोषणा की कि सरकार बनते ही मिनी बसों के लिए एक अलग नीति लेकर आएगी। अकाली दल ने नए ट्रांसपोर्ट विंग के पदाधिकारियों की सूची भी जारी कर दी। परमजीत सिंह फाजिल्का अध्यक्ष, गुरविंदर सिंह बिंदर मनीला जनरल सचिव, बलविंदर सिंह बब्बू वरिष्ठ उपाध्यक्ष, रमनदीप सिंह जिम्मी जनरल सचिव, साधु सिंह खलोर जनरल सचिव, हरपाल सिंह बटाला उपाध्यक्ष, नरेंद्र सिंह मान उपाध्यक्ष, बलकार सिंह नकोदर उपाध्यक्ष, अमरजीत सिंह राणा खजांची, अजीत सिंह गुरदासपुर संयुक्त सचिव, हरप्रीत सिंह मुकेरियां संयुक्त सचिव, सुखविंदर सिंह बिटटू नंगल संयुक्त सचिव, जगमैल सिंह भोगपुर संगठन सचिव, संदीप सिंह पठानकोट संगठन सचिव तथा गुरिंदर सिंह लोहारा संगठन सचिव नियुक्त किया गया है।