President Kovind honored Sushma Swaraj

राष्ट्रपति Kovind ने वर्ष 2020 के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री Sushma Swaraj ​को मरणोपरांत पद्म विभूषण से किया सम्मानित

भोपाल : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वर्ष 2020 के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज को मरणोपरांत पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। राष्ट्रपति कोविंद ने आज राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में वर्ष 2021 के लिए पद्म पुरस्कार प्रदान किए। इस गरिमामय समारोह में भोपाल के अब्दुल जब्बार खान को (मरणोपरांत), इंदौर के पुरुषोत्तम दाधीच, इंदौर के ही नेमनाथ जैन और रतलाम की डॉ. लीला जोशी को पद्मश्री से विभूषित किया गया।

राष्ट्रपति ने वर्ष 2021 के लिए पूर्व सांसद सुमित्र महाजन को पद्मभूषण, भोपाल के कपिल तिवारी को मध्यप्रदेश की लोक कलाओं के संवर्धन में महत्वपूर्ण योगदान देने और जनजातीय चित्रकार बहन भूरी बाई को पद्म श्री से सम्मानित किया। राष्ट्रपति द्वारा वर्ष 2020 के पुरस्कार दिनाँक 08 नवम्बर को प्रदान किए गए थे। पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज विदिशा संसदीय क्षेत्र से सांसद रही। उन्हें सार्वजनिक जीवन में विशेष योगदान के लिए पद्म विभूषण 2020 से सम्मानित किया गया। सुषमा स्वराज लोक सभा में नेता प्रतिपक्ष भी रही। केंद्रीय विदेश मंत्री के रुप में विदेश मंत्रलय को जन-जन से जोड़ने का श्रेय श्रीमती सुषमा स्वराज को जाता है।

भोपाल के अब्दुल जब्बार खान को सामाजिक कार्य के लिए पद्म श्री 2020 से मरणोपरांत सम्मानित किया गया। खान भोपाल गैस पीड़ित महिला उद्योग संगठन के संयोजक थे। उन्होंने गैस पीड़ितों, उनके परिवार वालों के इलाज और पुनर्वास के लिए लगभग 30 वर्ष तक संघर्ष किया। इंदौर के पुरुषोत्तम दाधीच को कला क्षेत्र में कत्थक नृत्य एवं कोरियोग्राफी के लिए पद्म श्री 2020 से सम्मानित किया गया।

रतलाम की डॉ. लीला जोशी को मेडिसिन के क्षेत्र में पद्म श्री 2020 से सम्मानित किया गया। डॉ. जोशी रेलवे से मेडिकल ऑफीसर के पद से सेवानिवृत्त हुई। डॉ. लीला जोशी को एनीमिया से प्रभावित महिलाओं के लिए किए गए प्रभावी कार्यों के लिए सम्मानित किया गया है। वे मदर ऑफ रतलाम के नाम से विख्यात हैं।इंदौर के नेमनाथ जैन को उद्योग तथा व्यापार के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य के लिए पद्म श्री 2020 प्रदान किया गया है। श्री जैन प्रेस्टीज ग्रुप इंदौर के संस्थापक और चेयरमेन हैं। श्री जैन भारत में सोयाबीन सेक्टर को विकसित करने वाले अग्रणी व्यक्तियों में से एक है।

सार्वजनिक क्षेत्र में विशेष योगदान के लिए पूर्व सांसद सुमित्र महाजन को पद्म भूषण 2021 से सम्मानित किया गया। महाजन 16वीं लोकसभा की स्पीकर रही। वे भारत की पहली महिला हैं जो लगातार 8 बार सांसद रही। भोपाल के श्री कपिल तिवारी को साहित्य एवं शिक्षा के लिए पद्म श्री 2021 से सम्मानित किया गया। जनजातीय संस्कृति में रामायण आधारित कला के प्रकटीकरण के क्षेत्र में तिवारी का विशेष योगदान रहा है। प्रदेश की लोक कलाओं को सहेजने और उनके संवर्धन में श्री तिवारी की महत्वपूर्ण भूमिका है। जनजातीय चित्रकार बहन भूरी बाई को कला के लिए पद्म श्री 2021 से सम्मानित किया गया है। मूलत: झाबुआ की भूरी बाई अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त भील चित्रकार हैं।



Live TV

-->

Loading ...