Mahakumbh

सोमवती अमावस्या पर कल होने वाले महाकुंभ के शाही स्नान की तैयारियां पूरी

उत्तराखंड के हरिद्वार में महाकुंभ मेले में कल सोमवती अमावस्या पर होने वाले दूसरे शाही स्नान को लेकर मेला एवं पुलिस प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली गई है। पुलिस महानिरीक्षक संजय गुंज्याल ने आज यहां बताया कि महाकुंभ के स्नान को देखते हुए बाहरी राज्यों से हरिद्वार आने वाले वाहनों के रुट तय कर दिए गए हैं भारी वाहनों का हरिद्वार में प्रवेश बंद कर दिया गया है तथा विभिन्न प्रांतों से आने वाले वाहनों के लिए अलग-अलग पार्किंग एरिया बनाए गए हैं। श्री गुंज्याल ने कहा कि उत्तर प्रदेश मुजफ्फरनगर सहारनपुर से आने वाले वाहन धीरवाली पार्किंग में खड़े किए जाएंगे जबकि बिजनौर वाले इलाकों से आने वाले वाहन गौरीशंकर पार्किंग में खड़े किए जाएंगे और गढ़वाल से आने वाले वाहन उत्तरी हरिद्वार में दूधाधारी पार्किंग में खड़ी किए जाएंगे। 

बाहर से आने वाली बसों के लिए कई अस्थाई बस स्टैंड भी बनाए गए हैं जिसमें मुख्य रुप से ऋषि कुल में अस्थाई बस स्टैंड बनाया गया है इसके अलावा शहर में आने जाने के लिए शटल सेवा भी शुरु की गई है। उन्होंने कहा कि मुख्य मार्गों पर सभी प्रकार के वाहन बंद रहेंगे हर की पौड़ी के दो किलोमीटर के आसपास के क्षेत्र को जीरो जोन घोषित कर दिया गया है वहां केवल पैदल यात्रियों को ही जाने की अनुमति होगी। व्यापारियों को पुलिस प्रशासन की ओर से पास वितरित किए गए है। रेलवे ने भी इस बार कोरोना महामारी को देखते हुए विशेष ट्रेनें नहीं चलाई है केवल सामान्य ट्रेनें चलेंगी जो हरिद्वार से पहले ज्वालापुर रेलवे स्टेशन पर रुकेगी वहां से यात्रियों को टेंपो और अन्य साधनों से अपने-अपने गंतव्य की ओर जाना होगा। 

महाकुंभ का पहला शाही स्नान 11 मार्च को शिवरात्रि के दिन हो चुका है जबकि मुख्य स्नान 14 अप्रैल को होगा इस महीने कुल 3 शाही स्नान होंगे जिसमें 12 अप्रैल सोमवती अमावस्या का स्नान 14 अप्रैल मेष सक्रांति तथा 27 अप्रैल को पूर्णिमा का स्नान होगा वह मेले को दृष्टिगत रखते हुए हरिद्वार को कई जोन तथा सेक्टरों में बांटा गया है इस बार मेला प्रशासन की ओर से कई नए घाट वह पुल भी बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि हरिद्वार में सभी बॉर्डर पर भारी सुरक्षा बल तैनात कर दिए गए हैं जगह-जगह जांच की जा रही है तथा बाहर से आने वाले लोगों की कोविड जांच रिपोर्ट ना होने पर उन्हें लौटाया जा रहा है साथ ही लोगों को कुंभ पोर्टल पर पंजीकरण कराने के लिए भी आवश्यक निर्देश दिए जा रहे हैं। 

उन्होंने जगह-जगह सीसीटीवी कैमरों से निगरानी की जा रही है ड्रोन कैमरो के जरिए भीड़ एवं यातायात पर निगाह रखी जा रही है साथ ही मेला भवन में कंट्रोल कमांड सेंटर बनाया गया है इसके माध्यम से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के द्वारा मेले पर भीड़ एवं यातायात नियंत्रण में इसकी मदद ली जा रही है। मेला अधिकारी दीपक रावत ने बताया कि हरिद्वार में लगभग 800 करोड़ रुपये की लागत से यहां बुनियादी सुविधाओं का विकास  किया गया है। हरिद्वार में सौंदर्यीकरण के लिए चित्रकारी एवं रात्रि लाइटिंग का भी इंतजाम किया गया है। सुरक्षा की दृष्टि से यहां पर अस्थाई पुलिस लाइन बनाई गई है इसमें उत्तराखंड की पुलिस के अलावा पैरामिलेट्री फोर्स कमांडो दस्ते डॉग स्क्वायड घोड़ा पुलिस तथा जल पुलिस भी तैनात किया गया है। हरिद्वार के स्कूल व कॉलेज 15 अप्रैल तक के लिए बंद कर दिए गए हैं तथा सरकारी दफ्तरों में भी कुंभ मेले से संबंधित सभी कार्यालयों में कर्मियों की छुट्टियों को रद्द कर दिया गया हैं।




Live TV

Breaking News


Loading ...