temperature

मार्च से मई के बीच सामान्य से ज्यादा तापमान की संभावना

भारत के कई हिस्सों में दिन के साथ ही रात में भी गर्मी परेशान करने लगी है। लगातार बढ़ रहे तापमान को देखते हुए यही माना जा रहा है कि इस साल गर्मी सभी रिकार्ड तोड़ देगी, जिससे लोगों की परेशानी बढ़ेगी। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आई.एम.डी.) के एक अधिकारी ने बताया कि मार्च से मई के बीच में उत्तर, उत्तर-पश्चिम और उत्तर-पूर्व भारत के अधिकांश इलाकों तथा मध्य भारत के पूर्व और पश्चिमी भाग में सामान्य से अधिक तापमान की संभावना है। 

राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को न्यूनतम तापमान 11.8 डिग्री सैल्सियस रहा। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आई.एम.डी.) ने बताया कि शहर में रविवार को न्यूनतम तापमान 15.6 डिग्री सैल्सियस और अधिकतम तापमान 32.3 डिग्री सैल्सियस दर्ज किया गया था। वहीं, उड़ीसा और झारखंड के शहरों में जून जैसी गर्मी पड़ने लगी है। भुवनेश्वर में पिछले 5 दिनों से पारा 40 डिग्री के आसपास पहुंच रहा है। रविवार को भी यहां तापमान 40.6 डिग्री सैल्सियस दर्ज किया गया। इसके साथ ही झारखंड में जमशेदपुर और पलामू सबसे गर्म रहे। मौसम विभाग के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ की कमजोर सक्रियता व आसमान साफ रहने के कारण अधिक गर्मी पड़ रही है। हालांकि, अगले सप्ताह पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की संभावना है। 

इससे पहाड़ों पर बर्फबारी होने से मैदानी इलाकों में भी अधिकतम तामपान में कमी आएगी। प्रादेशिक मौसम विभाग के मुताबिक, शनिवार को दिल्ली में न्यूनतम तापमान शुक्रवार के 15.2 डिग्री के मुकाबले 2.6 अधिक 17.8 डिग्री सैल्सियस दर्ज किया गया। दूसरी ओर जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश व उत्तराखंड के कई हिस्सों में बर्फबारी हुई है। बर्फीली हवाओं से दोबारा शीतलहर चल पड़ी है। इससे तापमान में कुछ गिरावट आई है। जम्मू व शिमला सहित कई जगह बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हुई है। मौसम विभाग का कहना है कि उत्तरपश्चिम में विक्षोभ सक्रिय होने से पहाड़ों पर बर्फबारी होने के साथ ही रविवार को दिल्ली-एन.सी.आर. समेत मैदानी इलाकों में बारिश हो सकती है।