fire

आग लगने से फैला विषैला धुआं, आसपास रहने वाले लोगों को सांस लेने में हुई दिक्कत

पिंजौर शुक्रवार दोपहर को  पिंजौर-कालका रेलवे फाटक के पास ट्रैक के दोनों ओर भीषण आग लग गई, जिसका काला धुआं दूर से ही नजर आ रहा था। मौके पर मिली जानकारी के मुताबिक रेलवे के इंजीनियरिंग विंग द्वारा चंडीगढ़-कालका लाइन पर पटरी बदलने का काम किया जा रहा था। जिसमें नई पटरी को ट्रैक पर रखने के लिए उसे वैल्डिंग किया जा रहा था।

वैल्डिंग से उठने वाली चिंगारियां पटरी के दोनों ओर सूखी घास व झाड़ियों में जाने से उनमें आग लग गई जिस पर पहले तो मौके पर काम कर रहे कर्मचारियों ने कोई ध्यान नहीं दिया परन्तु जैसे ही आसपास के लोगों ने शोर मचाया और आग भयानक हो गई तो उन्होंने हरी झाड़ियों की टहनियों से आग बुझानी शुरू कर दी, ऐसे में आग बुझ तो नहीं पाई, पूरी झाड़ियों में आग लगकर ही बुझी। उधर पटरी के पास रेलवे की जमीन पर ही वही नजदीक कबाड़ के गोदाम मालिक द्वारा काफी कबाड़ भी रखा हुआ था।

झाड़ियों की आग कबाड़ तक भी पहुंच गई जिससे आग और ज्यादा फैल गई, कबाड़ में पड़ी रबड़, प्लास्टिक आदि में आग लगने से विषैले धुएं से आसपास रहने वाले लोगों को सांस लेने में भी दिक्कत होने लगी। हैरानी की बात यह थी कि इस आग पर काबू पाने के लिए न तो रेलवे ने फायरबिग्रेड की गाड़ी बुलवाई न ही गोदाम मालिक ने जिस कारण लोगो को गंदे धुएं की समस्या से जूझना पड़ा। वहीं कबाड़ के गोदाम मालिक का कहना है कि यहां पर जो कबाड़ है वो हमारा नहीं है। 

Live TV

Breaking News


Loading ...