Delhi, vaccination

दिल्ली में एक मार्च से तीसरे चरण के वैक्सीनेशन की होगी शुरूआत

नई दिल्लीः दिल्ली में एक मार्च से तीसरे चरण के वैक्सीनेशन की शुरूआत हो गई। शुरू हुए इस तीसरे चरण के वैक्सीनेशन के तहत वरिष्ठ नागरिकों के साथ गंभीर रोग से पीड़ित 45 साल से ऊपर के मरीजों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। तीसरे चरण के वैक्सीनेशन के तहत 60 साल से अधिक उम्र के करीब 12 से 15 लाख लोगों को चिंहित किया गया है। साथ ही गंभीर बीमारी से ग्रसित 45-59 साल से अधिक उम्र के करीब दो से तीन लाख लोग इस अभियान में शामिल किए जा रहे हैं।

इस वैक्सीनेशन के लिए कुल 192 अस्पतालों को चिन्हित किया गया है, जिसमें 136 निजी और 56 सरकारी अस्पताल शामिल हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि, ‘‘सरकारी अस्पतालों में यह वैक्सीनेशन पूरी तरह से मुफ्त किया जा रहा है। इसके लिए हर व्यक्ति को को-विन एप पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है। वहीं, निजी अस्पतालों में वैक्सीन पर शुल्क ली जा रही है। प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीनेशन की शुल्क 250 रुपए निर्धारित की गई है।’’

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि, ‘‘दिल्ली सरकार ने तीसरे चरण के वैक्सीनेशन में 60 साल से ऊपर के सभी वरिष्ठ नागरिकों के साथ किसी प्रकार के गंभीर बीमार 45 साल से ऊपर व्यक्तियों को शामिल किया गया है। 45 साल से अधिक उम्र वाले बीमार लोगों को वैक्सीनेशन के लिए अपनी बीमारी से संबंधित डॉक्टर का सर्टिफिकेट दिखाना होगा।’’ स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने कहा कि, ‘‘तीसरे चरण के तहत चल रहे वैक्सीनेशन की श्रेणी में 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले और 45 वर्ष से अधिक उम्र के बीमार लोगों को शामिल किया गया है। सरकार ने 20 तरह की बीमारियों की एक सूची बनाई है। इन 20 तरह की बीमारियों की सूची में से किसी भी बीमारी से कोई व्यक्ति ग्रसित है, तो वह वैक्सीन ले सकता है। इसके लिए उस व्यक्ति को डॉक्टर से बीमारी का प्रमाण पत्र दिखाना है।’’ 

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली सरकार ने वैक्सीनेशन के लिए बहुत अच्छी तैयारियां की हैं, ताकि लोगों को वैक्सीनेशन से किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं हो सके और सभी को वैक्सीनेशन के लिए पूरा मौका दिया जा रहा है। सत्येंद्र जैन ने आगे कहा कि वैक्सीनेशन के लिए लोगों की भीड़ कम करने के लिए एक ही अस्पताल में 2 से 3 केंद्र बनाए गए हैं, ताकि लोगों को सहूलियत हो सके। इस तरह वैक्सीनेशन के लिए दिल्ली के 192 अस्पतालों में 300 से अधिक केंद्र खोले गए हैं।’’ पंजीकरण से संबंधित पूछे गए सवाल पर सत्येंद्र जैन ने कहा कि वैक्सीनेशन के लिए सबसे पहले व्यक्ति को को-विन एप पर जाकर खुद पंजीकरण करना होगा। पंजीकरण की प्रक्रिया काफी सरल बनाई गई है, जहां व्यक्ति अपनी जानकारी भरकर वैक्सीनेशन करवा सकता है। साथ ही, को-विन एप पर अपनी सुविधा के अनुसार समय और अस्पताल का भी चयन किया जा सकता है।




Live TV

-->

Loading ...