Pathankot helicopter crash

Pathankot Helicopter क्रैश मामला : रंजीत सागर डैम में 12 दिन बाद मिला पायलट का शव

जम्मू : पठानकोट के रंजीत सागर बांध पर 3 अगस्त को एक दुर्घटना हुई, जिसमें सेना का एक हेलीकॉप्टर जॉकी गश्त के लिए निकला और रंजीत सागर झील में दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिसके बाद एक तलाशी अभियान शुरू किया गया।

मिली जानकारी के अनुसार करीब 12 दिन बाद रंजीत सागर बांध की झील से एक पायलट का शव बरामद हुआ है। शव को पोस्टमार्टम के लिए सैन्य अस्पताल पठानकोट लाया गया है। 

जानकारी के अनुसार सेना, नौसेना, पनडुब्बी बचाव इकाई और पुलिस के संयुक्त खोज और बचाव दलों को रविवार को जम्मू-कश्मीर में कठुआ के बशोली इलाके में रंजीत सागर हेलीकॉप्टर दुर्घटना में लापता हुए पायलटों में से एक का शव बरामद हुआ। कठुआ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रमेश कोतवाल ने आज यहां बताया, ‘‘संयुक्त दलों को रविवार शाम एक लापता पायलट का शव बरामद हुआ है।’’  उन्होंने कहा कि खोजी दल को लेफ्टिनेंट कर्नल एएस बाथ का शव रंजीत सागर झील से 75.9 मीटर की गहराई में मिला। 

उन्होंने कहा, ‘‘दूसरे पायलट के पार्थिव शरीर का पता निकालने के प्रयास जारी हैं।’’ उन्होंने बताया कि नौसेना की सबमरीन की बचाव इकाई 13 अगस्त को बशोली क्षेत्र में रंजीत सागर बांध के गहरे पानी में हेलीकॉप्टर दुर्घटना के लापता पायलटों का पता लगाने के लिए लगी हुई थी। 

एक अधिकारी ने बताया कि नौसेना की पनडुब्बी बचाव इकाई को करीब 80-100 मीटर की गहराई में मलबे का पता लगाने के लिए भेजा जा रहा है।
उन्होंने कहा कि वायु सेना ने पानी के भीतर खोज में तेजी लाने के लिए विशाखापत्तनम से पठानकोट भारी उपकरण लगाए गए है।

Live TV

-->

Loading ...