dharam,Palmistry,parent,religion news,Latest News, Dainik Savera, Dainik Savera News, Dainik Savera

Palmistry: हाथ की ये कुछ रेखाएं बताती है आप कितनी बार बनेंगे पैरेंट्स?

माता पिता बनना ज़िंदगी का सबसे बड़ा सुख होता है। हर शादीशुदा इंसान चाहता है के उसे जीवन में जल्द से जल्द संतान का सुख प्राप्त हो। जिस तरह हम अपनी हाथों की रेखा से अपने भविष्य के बारे  है उसी तरह हम अपने हाथों की रेखा से यह भी जान सकते है के हम  कितनी बार पैरेंट्स बनेगे। हथेली की रेखाओं को देखकर न केवल भाग्य और धन के बारे में पता लगाया जाता है, बल्कि संतान के बारे में भी जनकारी हासिल की जाती है। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हथेली की कौन-कौन सी रेखाएं इसके बारे में बताती है आइए जानते है। 

-अगर हथेली का शुक्र पर्वत उभार लिए है तो एक संतान की प्राप्ति होती है. वहीं अगर बुध पर्वत भी उभार लिए है तो इंसान एक से अधिक बार पैरेंट्स बनता है.  

-जिनकी हथेली में संतान रेखा जितनी साफ और उभरी हुई होती है, उन्हें संतान से उतना ही अधिक प्यार और सुख मिलता है. 

-अगर हथेली का बुध पर्वत का क्षेत्र बिल्कुल पुष्ट है और यहां द्वीप का चिह्न है तो संतान प्राप्ति के लिए शुभ नहीं होता है. ऐसा हथेली वालों को संतान सुख में बाधा उत्पन्न होती है. 

-हथेली में शुक्र और बुध पर्वत जितना अधिक स्पष्ट रेखा बनती है, पुत्र प्राप्ति की संभावना उतना ही अधिक प्रबल हो जाता है. जबकि रेखा हल्की व अस्पष्ट होने पर इंसान को पुत्री होती है. 

-अगर किसी महिला की हथेली में मिडिल और लिटिल फिंगर के नीचे कटे का चिह्न है तो यह संतान सुख में बाधक है. ऐसी स्थिति में संतान सुख में देरी होती है.  

-हथेली की छोटी अंगुली के नीचे बुध-पर्वत पर संतान रेखाएं उभरी हुई होती हैं. इस जगह पर जितनी रेखाएं होती हैं उतनी बार इंसान पैरेंट्स बनता है.

-संतान रेखा पर तिल अशुभ होता है. ऐसे में संतान सुख में समस्या आती है. इसके अलावा टूटी संतान रेखा इंसान को संतान सुख से वंचित रखती है.

-यदि संतान रेखा नीचे से ऊपर की ओर जाकर दो भागों में बंट जाए तो संतान को बहुत अधिक कष्ट झेलना पड़ता है. 


Live TV

Breaking News


Loading ...