PM Modi, Digital Health Mission, health ID card

PM मोदी ने Digital Health Mission का किया आगाज, एक प्लेटफॉर्म पर ही मिलेंगी सभी सुविधाएं

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राष्ट्रीय डिजिटल हेल्थ मिशन (NDHM) की शुरुआत की है। इस योजना के तहत हर भारतीय को आधार जैसा यूनीक हेल्थ कार्ड मिलेगा और इससे देश में एक डिजिटल हेल्थ सिस्टम तैयार किया जा सकेगा। यह योजना फिलहाल छह केंद्रशासित प्रदेशों से शुरू की जाएगी और फिर पूरे देश के राज्यों में लागू की जाएगी।

योजना के फायदे 
इस योजना के तहत प्रत्येक व्यक्ति के लिए विशिष्ट आईडी बनाने के लिए आधार और मोबाइल नंबर जैसे विवरणों के साथ स्वास्थ्य आईडी कार्ड बनाया जाएगा। इस यूनिक कार्ड से पता चल जाएगा कि किसी मरीज का इलाज कहां-कहां हुआ है। साथ ही व्यक्ति की सेहत से जुड़ी हर जानकारी इस यूनिक हेल्थ कार्ड में दर्ज होगी। इसकी मदद से मरीज और डॉक्टर अपने रिकॉर्ड्स चेक कर सकते हैं। इसमें डॉक्टर्स, नर्स समेत अन्य स्वास्थ्यकर्मियों,अस्पताल-क्लीनिक-मेडिकल स्टोर्स का रजिस्ट्रेशन होगा। इससे मरीज को हर जगह फाइल लेकर साथ भी न चलना होगा। डॉक्टर या अस्पताल रोगी का यूनिक हेल्थ आईडी देखकर उसकी स्थिति को जान सकेंगे और फिर इसी आधार पर आगे का इलाज शुरू हो सकेगा।

हर भारतीय की होगी डिजिटल हेल्थ ID
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना को लॉन्च करते हुए कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में ये एक क्रांतिकारी कदम है। पीएम मोदी ने कहा कि देश की गरीब और मध्यम वर्गीय लोगों के इलाज में इस योजना ने अहम भूमिका निभाई है, अब डिजिटल फॉर्म में आने से इसका विस्तार हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत हर नागरिक का हेल्थ रिकॉर्ड डिजिटली सुरक्षित रहेगा। देशवासियों को अब एक डिजिटल हेल्थ आईडी मिलेगी। आयुष्मान भारत- डिजिटल मिशन, अब पूरे देश के अस्पतालों के डिजिटल हेल्थ सोल्यूशंस को एक दूसरे से कनेक्ट करेगा।

Live TV

-->

Loading ...