Center, Supreme Court, NEET SS exam

Supreme Court में केंद्र ने कहा- इस वर्ष पुराने पैटर्न पर ही होगी NEET SS परीक्षा, अगले साल बदलेगा पाठ्यक्रम

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट की तरफ से सख्ती बरतने के बाद केंद्र ने बुधवार को शीर्ष अदालत से कहा कि इस साल नवंबर में होने वाली नीट-सुपर स्पेशियलिटी परीक्षा पुराने प्रश्न पैटर्न के अनुसार होगी। केंद्र की ओर से अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल ऐश्वर्या भाटी ने न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ ने कहा कि छात्रों के व्यापक हित में, सरकार ने फैसला किया है कि संशोधित एनईईटी-एसएस परीक्षा पाठ्यक्रम 2022 से पेश किया जाएगा। नया प्रश्न पैटर्न अगले साल से लागू होगा।

पीठ ने जवाब दिया कि ‘‘सरकार बहुत निष्पक्ष रही है।’’ भाटी ने कहा कि इस साल होने वाली परीक्षा पुराने पैटर्न के अनुसार होगी। एक याचिकाकर्ता का प्रतिनिधित्व करने वाले अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने प्रस्तुत किया कि इसका किसी भी तरह से यह अर्थ नहीं होना चाहिए कि अदालत अगले वर्ष के लिए संशोधित पैटर्न परीक्षा को स्वीकार कर रही है।

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा-सुपर स्पेशियलिटी (एनईईटी-एसएस) 2021 पैटर्न में बदलाव पर केंद्र की खिंचाई करते हुए कहा कि जो धारणा और संदेश जाएगा वह यह है कि चिकित्सा शिक्षा और चिकित्सा विनियमन देश में धंधा हो गया है और लगता है कि सारी जल्दबाजी खाली सीटों को भरने की है। पाठ्यक्रम में बदलाव के पहलू पर, पीठ ने एनबीई के वकील से कहा, ‘‘जल्दी क्या थी। आपके पास एक परीक्षा पैटर्न है जो 2018 से 2020 तक चल रहा था।’’ न्यायमूर्ति विक्रम नाथ और न्यायमूर्ति बीवी नागरत्ना की पीठ ने कहा कि यह देश में चिकित्सा शिक्षा के लिए एक त्रासदी बन जाएगा।

Live TV

-->

Loading ...