Africa China cooperation

अफ्रीकी देशों के नेताओं ने अफ्रीका-चीन सहयोग की उपलब्धियों की प्रशंसा की

चीन-अफ्रीका सहयोग मंच का दो दिवसीय आठवां मंत्रिस्तरीय सम्मेलन 29 नवंबर को सेनेगल की राजधानी डकार में उद्घाटित हुआ। मंच में उपस्थित सेनेगल के राष्ट्रपति, कोमोरोस के राष्ट्रपति, कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के राष्ट्रपति ने उद्घाटन समारोह में भाषण दिए। उन्होंने मंच के पेइचिंग शिखर सम्मेलन के बाद से अफ्रीका-चीन सहयोग की उपलब्धियों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि वे चीन के साथ एकता और दोस्ती को मजबूत करने, आपसी लाभ वाले सहयोग को गहरा करने, चीन-अफ्रीका संबंधों के एक नए युग की शुरुआत करने और नए युग में साझा भाग्य समुदाय का निर्माण करने को तैयार हैं।

सेनेगल के राष्ट्रपति मैके सैल ने भाषण देते हुए कहा कि उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में अफ्रीका और चीन के बीच सहयोग में प्राप्त उपलब्धियों पर गर्व है और कोविड-19 महामारी का मुकाबला करने और आर्थिक बहाली को बढ़ाने में अफ्रीकी देशों का समर्थन करने के लिए वे चीन के आभारी हैं। उन्होंने कहा कि चीन-अफ्रीका सहयोग मंच की स्थापना के बाद से अफ्रीका और चीन हमेशा व्यावहारिक और प्रभावी तरीके से सहयोग करते रहे हैं। मित्रता, एकता, विश्वास और सम्मान मंच की ताकत हैं। उन्होंने भविष्य में अफ्रीका और चीन के बीच एकता और सहयोग को और मजबूत करने की आशा व्यक्त की, ताकि स्थिति परिवर्तनों के अनुकूल हो सके और संयुक्त रूप से वैश्विक चुनौतियों का सामना किया जा सके। 

कोमोरोस के राष्ट्रपति अजाली असौमानी ने वीडियो भाषण में कहा कि अफ्रीका-चीन सहयोग ने ऐतिहासिक उपलब्धियां हासिल की हैं। शांति और सुरक्षा बनाए रखने, गरीबी उन्मूलन और जलवायु परिवर्तन से निपटने जैसे क्षेत्रों में अफ्रीका-चीन सहयोग की उपलब्धियां संतोषजनक हैं। भविष्य में, हम यह सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे कि अफ्रीका-चीन मैत्रीपूर्ण साझेदारी संबंध मजबूत होते रहें, विशेष रूप से "बेल्ट एंड रोड" पहल के ढांचे के तहत बेहतर आपसी संपर्क और अधिक कुशल आर्थिक विकास हासिल हो। कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के राष्ट्रपति फेलिक्स त्सेसेकेदी ने वीडियो भाषण देते हुए सम्मेलन के दौरान सभी पक्षों के साथ बातचीत करने, पिछले सहयोग की उपलब्धियों की समीक्षा करते हुए अगले तीन वर्षों में अफ्रीका-चीन संबंधों के विकास की दिशा निर्धारित करने, और एकता व सहयोग को और मजबूत करने की उम्मीद जतायी। 
(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)