Sumedh Saini, Charanjit Sharma, Paramraj Umranangal, Supreme Court

कोटकपूरा गोलीकांड केसः उमरानंगल नार्को टेस्ट के लिए राजी, EX DGP सुमेध सैनी ने किया इनकार

फरीदकोटः कोटकपूरा गोलीकांड मामले की जांच के लिए पंजाब सरकार द्वारा बनाई गई एसआईटी को अदालत ने बड़ी राहत दी है। एसआईटी ने पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी, संस्पेंडिड आईजी परमराज उमरानंगल और चरणजीत शर्मा के नार्को टेस्ट की जो अर्जी दी थी, उसपर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने इन तीनों के टेस्ट के लिए सहमति दे दी है। वहीं सुमेध सिंह सैनी और चरणजीत शर्मा ने नार्को टेस्ट करवाने से इनकार कर दिया है, जिसे लेकर अब अगली सुनवाई 9 जुलाई को होगी। बता दें कि, इन अधिकारियों के नार्को टेस्ट करवाने के लिए एसआईटी को सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस का पालन करना होगा। 

क्या है पूरा मामला:-
फरीदकोट में साल 2015 के अक्टूबर महीने में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी का मामला सामने आने के बाद कोटकपूरा में सिखों ने जोरदार प्रदर्शन किया था। इस दौरान 14 अक्टूबर,2015 को पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए गोलियां चलाईं थीं, जिससे 2 प्रदर्शनकारी सिखों की मौत हो गई थी और कई अन्य घायल हुए थे। तब से ही लगातार सिख जत्थेबंदियां धरना प्रदर्शन करके उस समय की बादल सरकार में शामिल उन अधिकारियों पर कार्रवार्ई करने की मांग कर रही है, जिन्होंने निहत्थे सिख प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाने के आदेश दिए थे। 

इस मामले में अबतक तीन जांच कमेटियां बनाई जा चुकी है, जिनमें से दो अपनी रिपोर्ट माननीय अदालत में जमा करवा चुकी हैं, लेकिन अब तीसरी कमेटी मामले की जांच फिर से कर रही है। जिसमें उक्त तीनों अधिकारियों से सच्चाई उगलवाने के लिए एसआईटी ने नार्को टेस्ट करवाने की अर्जी दी थी। अदालत में सुनवाई के बाद उमरानंगल नार्को टेस्ट के लिए राजी हो गए हैं, जबकि सुमेध सैनी और चरणजीत शर्मा ने टेस्ट करवाने से इनकार कर दिया है। अब इस मामले में 9 जुलाई को अदालत में दोनों पक्षों के वकील दलीलों के जरिए साबित करने की कोशिश करेंगे कि उनके मुवक्किल टेस्ट करवाए या नहीं? आखिरी फैसला अदालत का ही होगा। 

Live TV

-->

Loading ...