Sheetla Ashtami

जानिए कब है शीतला अष्टमी और जानिए इसकी पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

जैसे के हर साल शीतला अष्टमी मनाई जाती है। शीतला अष्टमी होली के आठवें दिन मनाई जाती है लेकिन कही कही जगहा पर इसे सातवे दिन भी मनाई जाती है। इस दिन माता शीतला जी की पूजा अर्चना की जाती है। और कुछ लोग इस दिन व्रत भी रखते है और माता शीतला जी की पूजा अर्चना भी करते है। आज हम आपको इनकी पूजा विधि के बारे में बताने जा रहे है। 

शीतला अष्टमी शुभ मुहूर्त

अष्टमी तिथि आरंभ- 4 अप्रैल 2021 को सुबह 04 बजकर 12 मिनट से

अष्टमी तिथि समाप्त- 05 अप्रैल 2021 को प्रातः 02 बजकर 59 मिनट तक

पूजा मुहूर्त- सुबह 06 बजकर 08 मिनट से लेकर शाम को 06 बजकर 41 मिनट तक

पूजा की कुल अवधि- 12 घंटे 33 मिनट

शीतला अष्टमी से ग्रीष्मकाल की हो जाती है शुरुआत
पौराणिक मान्यता के अनुसार शीतला अष्टमी से ही ग्रीष्मकाल आरंभ हो जाता है. कहा जाता है कि शीतला अष्टमी के दिन इस दिन से ही मौसम तेजी से गर्म होने लगता है. शीतला माता के स्वरूप को शीतलता प्रदान करने वाला कहा गया है. इस व्रत का अर्थ यह है कि उस दिन के बाद बासी भोजन त्याज्य होता है. इसके साथ ही गर्मियों में साफ सफाई को विशेष महत्व दिया जाता है ताकि ग्रीष्म रोगों जैसे चेचक, खसरा आदि के प्रकोप से बचा जा सके.

अभय मुद्रा में विराजमान हैं शीतला माता
शीतला माता को चेचक जैसे रोग की देवी माना जाता है. यह हाथों में कलश, सूप, मार्जन (झाड़ू) और नीम के पत्ते धारण किए होती हैं. गर्दभ की सवारी किए हुए यह अभय मुद्रा में विराजमान हैं.

शीतला माता को मीठे चावलों का लगाया जाता है भोग
शीतला अष्टमी के दिन शीतला माता की पूजा के समय उन्हें खास प्रकार के मीठे चावलों का भोग चढ़ाया जाता है. ये चावल गुड़ या गन्ने के रस से बनाए जाते हैं. इन्हें सप्तमी की रात को बनाया जाता है. इसी प्रसाद को घर में सभी सदस्यों को खिलाया जाता है.

शीतला अष्टमी पूजा विधि
सप्तमी के दिन शाम के समय रसोईघर की साफ-सफाई करके माता का प्रसाद तैयार किया जाता है और अगले दिन का भोजन भी बनाकर रख दिया जाता है. अष्टमी के दिन सूर्योदय से पहले स्नान करके व्रत का संकल्प लिया जात है और शीतला माता के मंदिर में जाकर पूजा अर्चना की जाती है. इसके बाद बासी भोजन का भोग लगाया जाता है. तत्पश्चात जहां होलिका दहन किया गया था उस स्थान पर जाकर पूजा की जाती है, इस दिन घरों में ताजा खाना नहीं बनाया जाता. ताजा खाना अगली सुबह ही बनता है.


Live TV

Breaking News


Loading ...