dharam,Vastu Shastra,salt,Latest News, Dainik Savera, Dainik Savera News, Dainik Savera No.one, Dain

वास्तु शास्त्र के अनुसार जानिए जीवन में नमक के नकारात्मक और सकारात्मक प्रभाव

वास्तु शास्त्र का हमारे जीवन में बहुत अधिक महत्व है। हमारे घर या ऑफिस में हमारे आस पास रखी बहुत सी चीज़े हमारे जीवन जीवन पर बहुत अधिक प्रभाव डालती है। अगर हम अपने आस पास वास्तु शास्त्र के विपरीत कोई भी वस्तु रखते है तो उसका हमारे जीवन पर बहुत अधिक नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। आज हम आपको बताने जा रहे है के वास्तु शास्त्र के अनुसार नमक का भी हमारे जीवन पर नकारात्मक और सकारात्मक पड़ता है। तो आइए जानते है :

वास्तु के अनुसार नमक को बहुत ही शुभ माना गया है। चूंकि यह सकरात्मक ऊर्जा देता है, इसलिए इसे पूरे घर में इस्तेमाल किया जा सकता है और घर के कोनों में रखा जा सकता है। पानी की एक कटोरी में नामक रखकर इसे घर के कोनों में रखें। यह आपके घर की नकारात्मक ऊर्जा को सोख लेगा। हालांकि आपको इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि नमक के पानी को नियमित रूप से बदलें। इसे वाशरूम या सिंक में बाह्य दें। 

यदि आपको नींद की समस्या है तो आप बेडरूम में नमक रखें। ऐसा करने से आप सकारात्मक ऊर्जा का अनुभव करते हैं और सुकून की नींद ले सकते हैं। 

बाथरूम में एक कटोरी में थोड़ा सा नमक रखकर आप विभिन्न शारीरिक और मानसिक बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं। यह आपके घर से नकारात्मकता को दूर रखने में मदद करेगा और परिवार के लोगों को स्वास्थ्य संबंधी किसी भी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। 

नमक के नकारात्मक प्रभाव और उससे बचने के उपाय 
- यदि नमक में नकारात्मकता के स्थान को शुद्ध करने की शक्ति है तो यह नकारात्मक ऊर्जा को भी चारों ओर फैला सकता है। इससे बचने के लिए निम्न उपाय अपनाएं
- नमक का प्रयोग सीमित करें, इसकी थोड़ी मात्रा ही काफी है। 
- नमक को नियमित रूप से बदलते रहें। 
- जब आप नमक का इस्तेमाल कर लें तो उसे बहते पानी के नीचे निकाल दें, इसे दोबारा इस्तेमाल न करें। 
- अगर यह गलती से आपके घर या शरीर में गिर जाए तो इसे पोंछ लें या अच्छी तरह धो लें। 
- अति किसी भी चीज की बुरी होती है, लेकिन जब इसका विवेकपूर्ण उपयोग किया जाता है तो यह अत्यधिक लाभ और सकारात्मकता लेकर आती है।


Live TV

Breaking News


Loading ...