Kanpur metro rail

लखनऊ से ज्यादा एडवांस होगी कानपुर की मैट्रो रेल : कुमार केशव

कानपुर : उत्तर प्रदेश मैट्रो रेल कार्पोरेशन (यू.पी.एम.आर.सी.) के एम.डी. कुमार केशव के अनुसार कानपुर की मैट्रो रेल लखनऊ से ज्यादा एडवांस होगी। उन्होंने कहा कि अहमदाबाद के सांवली प्लांट में यह रेल तैयार किया जा रहा है और पहली मैट्रो रेल सितंबर के अंत में कानपुर आ जाएगी। इसके बाद नवंबर में इसका ट्रायल किया जाएगा। एम.डी. कुमार केशव ने आई.आई.टी. से मोती झील तक कानपुर में चल रही मैट्रो परियोजना का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने पाया कि ट्रैक और गार्डर बिछाने का काम लगभग पूरा होने वाला है। प्लेटफार्म, सीढ़ियां, सिग्नल का काम तेजी से चल रहा है। आई.आई.टी. से मोती झील तक पिलर बनकर तैयार हो चुके हैं। ट्रैक पर पटरियों को बिछाने का कार्य अगस्त तक पूरा कर लिया जाएगा। आई.आई.टी. कानपुर से मोती झील का ट्रैक लगभग 09 किलोमीटर लंबा है। उन्होंने कहा कि मैट्रो रेल की पहली रेल सितंबर और दूसरी रेल अक्टूबर तक आ जाएगी। इसके साथ ही नवंबर से इसका ट्रायल शुरू हो जाएगा।

एम.डी. कुमार केशव ने बताया कि कानपुर के लिए जो मैट्रो रेल बन रही है, वह लखनऊ से ज्यादा एडवांस है। उन्होंने कहा कि दूसरे शब्दों में कहा जाए कि लखनऊ की रेल से एक कदम आगे है। लखनऊ की ट्रेन से 3 साल बाद कानपुर के लिए रेल बना रहे हैं। ये मैट्रो रेल बहुत ही मॉर्डन है। उन्होंने कहा कि इस रेल में व्हीलचेयर की भी सुविधा है, फिजिकली चैलेंज पर्सन आसानी से जा सकते हैं, किसी की भी जरूरत नहीं पड़ेगी, यदि किसी को महिला या बुजुर्ग को कोई दिक्कत समस्या हो तो ड्राइवर और कंट्रोल रूम से बात कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि यह पूरी रेल सी.सी.टी.वी. कैमरों से लैस होगी, जो कि सभी कैमरे कंट्रोल रूम से अटैच रहेंगे।

उन्होंने कहा कि हम जो कॉरिडोर ऑपरेट करेंगे, इसके लिए 6 रेलगाड़ियों की जरूरत है, लेकिन हम 8 रेलगाड़ियों के संचालन का टार्गेट लेकर चल रहे हैं, ताकि एक रेल हमारे पास मेंटीनेंस के लिए रहे। उन्होंने कहा कि यह रेल गुजरात में बन रही है, मैंने 2 दिन पहले ही वहां का विजिट किया था। पहली और दूसरी रेलगाड़ी बनकर तैयार हो गई है। तीसरी रेलगाड़ी को बनाने का काम किया जा रहा है। 

Live TV

Breaking News


Loading ...