India, Russia, foreign exchange reserves

विदेशी मुद्रा भंडार के मामले में रूस से आगे निकला भारत

नई दिल्लीः विदेशी मुद्रा भंडार के मामले में भारत ने रूस को पछाड़ दिया है। अब भारत के पास दुनिया का चौथा सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा भंडार है। कई महीनों तक तेजी से बढ़ने का बाद इस साल भारत और रूस दोनों के विदेशी मुद्रा भंडार सपाट रहा लेकिन हाल के हफ्तों में रूस का विदेशी मुद्रा भंडार तेजी से घटा है। यही वजह है कि भारत रूस से आगे निकल गया है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के मुताबिक भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 5 मार्च को 4.3 अरब डॉलर घटकर 580.3 अरब डॉलर रह गया जबकि रूस का विदेशी मुद्रा भंडार 580.1 अरब डॉलर है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के मुताबिक दुनिया में सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा भंडार चीन के पास है। इस सूची में जापान दूसरे और स्विट्जरलैंड तीसरे स्थान पर है।

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 18 महीने के आयात के लिए पर्याप्त है। करेंट अकाउंट सरप्लस, घरेलू स्टॉक मार्केट में इनफ्लो और विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (FDI) बढ़ने से भारत का विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ा है। विश्लेषकों का कहना है कि विदेशी मुद्रा भंडार मजबूत होने से विदेशी निवेशकों और क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों को यह विश्वास होता है कि सरकार अपने कर्ज को चुकाने की स्थिति में है।

Live TV

Breaking News


Loading ...