India

भारत:"शिन्याग एक अच्छी जगह है" शीर्षक वीडियो सम्मेलन आयोजित

भारत में स्थित चीनी दूतावास ने 26 अक्तूबर को नई दिल्ली में शिनच्यांग उईगुर स्वायत्त प्रदेश की सरकार के साथ "शिनच्यांग एक अच्छी जगह है" शीर्षक वीडियो आदान-प्रदान बैठक आयोजित की। भारत के अर्थव्यवस्था, संस्कृति, पर्यटन, युवा समेत जगतों के मैत्रीपूर्ण संगठनों और विश्वविद्यालयों के शिक्षकों और छात्रों व थिंक टैंक और मीडिया के 130 से अधिक प्रतिनिधियों ने वीडियो कनेक्शन के माध्यम से इस गतिविधि में भाग लिया।

शिनच्यांग उईगुर स्वायत्त प्रदेश की सरकार के उपाध्यक्ष जरुल्ला हिसामिडीन ने अपने भाषण में इधर के वर्षों में शिनच्यांग की समग्र स्थिति और स्थिर विकास की जानकारी दी। उन्होंने अमेरिका और कुछ पश्चिम देशों की चीन विरोधी शक्तियों द्वारा रची गयी तथाकथित "उईगुरों की नजरबंदी और उत्पीड़न","मजबूर श्रम","अल्पसंख्यक जातीय समूहों की पारंपरिक संस्कृति का उन्मूलन","मजबूर नसबंदी" आदि अफवाहों और झूठों का खंडन किया।

चीनी राजदूत सुन वेइतुंग ने अपने भाषण में कहा कि कुछ पश्चिमी चीन विरोधी शक्तियां मानवाधिकारों और धर्म की आड़ में शिनच्यांग को "नरसंहार" और "जबरन श्रम" की टोपी पहनाने का प्रयास कर रही हैं। कोई भी झूठ शिनच्यांग के विकास और प्रगति के तथ्यों को मिटा नहीं सकता है, और कोई भी प्रयास शिनच्यांग के विकास और समृद्धि की प्रक्रिया में बाधा नहीं डाल सकता है। शिनच्यांग मामले चीन के आंतरिक मामले हैं, और किसी भी बाहरी ताकतों को हस्तक्षेप करने की अनुमति नहीं है। चीन का राष्ट्रीय संप्रभुता, सुरक्षा और विकास हितों की रक्षा करने और किसी भी विदेशी हस्तक्षेप का विरोध करने का दृढ़ संकल्प है।

मौके पर "शिनच्यांग एक अच्छी जगह है" शीर्षक थीम फिल्म चलायी गयी। शिनच्यांग उईगुर स्वायत्त प्रदेश के संबंधित अधिकारी ने शिनज्यांग में धार्मिक स्वतंत्रता और जनसंख्या वृद्धि, खुलेपन और आदान-प्रदान, पारिस्थितिक पर्यावरण संरक्षण और फोटोवोल्टिक उद्योग विकास, और भारत के साथ आर्थिक व व्यापारिक सहयोग की निहित शक्ति पर भारतीय मेहमानों और मीडिया के सवालों के जवाब दिए।  मुंबई में स्थित चीनी कौंसल जनरल थांग कुओत्सा और कोलकाता में स्थित चीनी कौंसल जनरल चा लियो ने भी वीडियो कनेक्शन के माध्यम से इस गतिविधि में भाग लिया। 
( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )