Vastu tips

अगर आपके भी बच्चों का नहीं लग रहा पढ़ाई में मन तो फॉलो करें ये वास्तु टिप्स

हिन्दु धर्म में वास्तु शास्त्र का बेहद महत्व होता है। ज्यादातर लोगों का यही मानना है कि वास्तु शास्त्र के हिसाब से चलने से जिंदगी की हर परेशानी दूर होती है। बहुत से बच्चो का पढ़ाई में मन नहीं लगता। यह जानना जरूरी है कि बच्चे का पढ़ने में मन क्यों नहीं लगा रहा है। यदि आपके बच्चे का पढ़ने में मन नहीं लगता है तो आप वास्तु के अनुसार 5 उपाय कर सकते हैं।

1. अध्ययन की दिशा : पूर्व, ईशा, उत्तर, वायव्य, पश्चिम और नैऋत्य में अध्ययन कक्ष बनाया जा सकता है। इसमें खासकर पूर्व, उत्तर और वायव्य उत्तम है। कक्ष नहीं है या नहीं बना सकते हो तो इसी दिशा में पढ़ाई की टैबल रखें।

2. पढ़ाई के स्थान पर चित्र : पढ़ने के कक्ष में मां सरस्वती, वेदव्यास या किसी पढ़ते हुए बच्चे का चित्र लगाएं। इसके अलावा किसी हरे तोते का चित्र लगाएं जिससे बच्चे का पढ़ने में तुरंत ही मन लगने लगेगा। उत्तर की दीवार पर तोते, चहकते हुए पक्षी, मोर, वीणा, कलम, पुस्तक, हंस, मछली, जंपिंग फिश या डॉल्फिन का चित्र लगा सकते हैं।

3. किधर रहे बच्चे का मुंह : घर के उत्तर की ओर ही बच्चे का मुंह होना चाहिए और तस्वीरें भी उत्तर की दीवार पर लगी होना चाहिए।

4. पीठ के पीछे क्या होना चाहिए : बच्चों की पीठ के पीछे द्वार अथवा खिड़की न हो। उनकी पीठ के पीछे दीवार हो तो चलेगा।

5. दीवारों का रंग : अध्ययन कक्ष की दीवारों का रंग सफेद, पिंकिश या क्रिम ही रखें। गहरे रंगों से बचें।










Live TV

Breaking News


Loading ...