marriage

अगर आप भी अपने वैवाहिक जीवन को बनाना चाहते है सफल तो सौभाग्य योग में करें विवाह

विवहा का कार्य बहुत ही शुभ होता है। विवहा करते समय हम शुभ मुहूर्त, शुभ दिन,शुभ समय बहुत सी बातों को ध्यान में रखते है। माना जाता है के अगर विवहा सही समय या शुभ मुहूर्त में न हो तो सारी ज़िंदगी जीवन कलह कलेश बना रहता है। इसीलिए कहा जाता है के शादी हमेश सही समय या शुभ मुहूर्त में ही करनी चाहिए। इसी तरह सौभाग्य नाम के एक योग होता है जिसमें विवाह करना शुभ माना गया है। तो आइए जानते है :

1. सौभाग्य योग सदा मंगल करने वाला होता है। नाम के अनुरूप यह भाग्य को बढ़ाने वाला है।

2. इस योग में की गई शादी से वैवाहिक जीवन सुखमय रहता है। इसीलिए इस मंगल दायक योग भी कहते हैं।

3. लोग मुहूर्त तो निकलवा लेते हैं परंतु सही योग के समय में प्रणय सूत्र में नहीं बंध पाते। अत: सुखमय वैवाहिक जीवन के लिए सौभाग्य योग में ही विवाह के बंधन में बंधने की प्रक्रिया पूरी की जानी चाहिए।

4. यदि विवाह के समय सही लग्न, मुहूर्त आदि नहीं है और सौभाग्य योग भी नहीं है तो प्रति योग में विवाह करना शुभ माना जाता है। कहते भी है कि कि प्रीति संबंध करना। प्रेम विवाह करने में अक्सर इस योग का ध्यान रखा जाता है।

Live TV

Breaking News


Loading ...