eradicate , malaria

चीन ने कैसे मलेरिया मिटा दिया

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 30 जून को घोषणा की कि चीन को इस संगठन का मलेरिया उन्मूलन प्रमाणन मिला है ।इस तरह चीन विश्व स्वास्थ्य संगठन के पश्चिमी प्रशांत महासागर क्षेत्र में तीस से अधिक साल में ऐसा सर्टिफिकेशन प्राप्त करने वाला पहला देश बन गया । पिछली सदी के 40 वाले दशक में चीन में मलेरिया मामलों की संख्या 3 करोड़ थी ।वर्ष 2017 से अब तक चीन में कोई मामला नहीं उभरा है ।यह चीन में सार्वजनिक स्वास्थ्य गारंटी व्यवस्था के निर्माण की सफलता है और सत्तारूद्ध पार्टी सीपीसी द्वारा हमेशा जनता की सुरक्षा और स्वास्थ्य पर प्राथमिकता देने का परिणाम भी है । पिछली सदी के पचास वाले दशक में चीन ने मलेरिया का मुकाबला शुरू किया ।वर्ष 1967 में चीन ने मलेरिया के उपचार का नया उपाय खोजने की परियोजना 523 शुरू की और अंत में पिछली सदी के 70 वाले दशक में आर्टेमिसिनिनपाया । आर्टेमिसिनिन मलेरिया के उपचार के लिए रामबाण माना जाता है ।

उल्लेखनीय बात है कि मलेरिया के मुकाबले में चीन ने बहुत प्रभावी निगरानी रणनीति बनायी है यानी 1-3-7 निगरानी रणनीति ।इस का अर्थ है कि एक  दिन में मामले की रिपोर्ट ,तीन दिन में मामले की फिर पुष्टि और पड़ताल और सात दिन में संक्रमित स्थल की जांच और निपटारा । मलेरिया पूरी तरह मिटाना मानव स्वास्थ्य और विश्व मानवाधिकार प्रगति के लिए चीन का एक और बड़ा योगदान है ।मानव एक किस्मत का समुदाय है ।वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट के सामने एकजुटता और सहयोग विभिन्न देशों का एकमात्र सही विकल्प है ।

(साभार---चाइना मीडियाग्रुप ,पेइचिंग)


Live TV

-->

Loading ...