High Court

HC का DGP पंजाब को निर्देश- राजपुरा में कैद किए गए बीजेपी नेताओं को दी जाए सुरक्षा, आज 2 बजे पेश करें रिपोर्ट

चंडीगढ़ः केंद्र के नए कृषि कानूनों के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है। किसान बीजेपी नेताओं का घेराव कर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं। वहीं इस मामले में सख्त एक्शन लेते हुए हाईकोर्ट ने पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता को निर्देश दिया है कि राजपुरा में किसानों द्वारा अवैध रूप से कैद किए गए बीजेपी नेताओं को पर्याप्त सुरक्षा के साथ बाहर निकाला जाए। 

इस मामले की सुनवाई देर रात 1 बजे न्यायमूर्ति सुवीर सहगल के समक्ष हुई। सुनवाई के बाद सुवीर सहगल ने राज्य और डीजीपी को नोटिस जारी कर निर्देश दिया कि याचिकाकर्ताओं को पर्याप्त सुरक्षा के साथ बाहर निकाला जाए। साथ ही सुनिश्चित किया जाए कि उनमें से किसी को भी कोई नुकसान न पहुंचे। कोर्ट ने यह आदेश भी दिया कि आज दोपहर 2 बजे कोर्ट के समक्ष इस मामले की रिपोर्ट पेश की जाए। 

बता दें कि, भाजपा नेता बृजेश्वर सिंह ने याचिकाकर्ताओं के जीवन और स्वतंत्रता को किसानों एवं अन्य उपद्रवियों से बचाने के लिए हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की है। जिसमें आरोप लगाया गया है कि उन्हें मकान नंबर-179, गुरु अर्जन देव कॉलोनी, राजपुरा, जिला पटियाला में अवैध रूप से कैद कर लिया गया है। इससे पहले, रविवार को किसानों ने राजपुरा में बैठक कर रहे बीजेपी नेताओं के साथ मारपीट की और शाम को जिला सचिव के घर पहुंचे वरिष्ठ नेताओं को बंधक बना लिया। इस दौरान किसानों ने उनके घर की बिजली भी काट दी।

उल्लेखनीय है कि, कोरोना महामारी के चलते पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी। एडवोकेट जनरल और अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया की तरफ से इस संबंध में नोटिस जारी किया गया है, जिसमें कहा गया है कि याचिका की एक कॉपी उन्हें ई-मेल द्वारा भेजी जाए। 

Live TV

-->

Loading ...