बर्फबारी

हिमाचल में भारी बर्फबारी, जनजीवन अस्त व्यस्त

हिमाचल में भारी बर्फबारी से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। सड़कों पर यातायात ठप्प पडा है। बिजली बोर्ड के दर्जनों खंबे टूट गए हैं। पेयजल योजनाएं प्रभावित हुई। बिजली की आपूर्ति बाधित होने से पानी लिफ्ट करना मुश्किल हो गया है। जनजातीय जिला लाहुल स्पीति व किन्नौर में बर्फबारी का सबसे अधिक असर पड़ा है। प्रदेश में वीरवार सुबह से भारी बर्फबारी हुई। बर्फबारी की वजह से प्रदेश के ऊंचे पर्वतीय भागों खासतौर पर लाहुल स्पीति, शिमला, चंबा व कुल्लू व मंडी जिलों में जन जीवन प्रभावित हो गया है। लोग बिजली की आंख मिचोली से परेशान हैं। प्रदेश की राजधानी शिमला में लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बर्फबारी से यातायात ठप्प है। यहां तक कि सड़कों पर भारी बर्फ होने की वजह से रोगी वाहन भी नहीं चल पा रहे। पुलिस ने शिमला में एक रोगी को क्रेन में बिठा कर अस्पताल पहुंचाया। बर्फबारी की वजह से प्रदेश में 300 के करीब सड़कें बंद हैं। इनमें 3 नैशनल हाइवे व 267 संपर्क सड़कें भी शामिल हैं। शिमला- रामपुर नैशनल हाइवे पर यातायात ठप्प है। शिमला-कालका नैशनल हाइवे पर भी वाहन नहीं चल रहे। रामपुर व रिकांगपिओ के लिए वाया बसंतपुर वाहनों को भेजा जा रहा है। लाहौल स्पीति जिला में 112 संपर्क सड़कें बंद हो गई हैं। शिमला जिला में यह आंकड़ा 69 है। चंबा में छह, कुल्लू जिला में 32 सड़कें बंद हैं। इसके अलावा बिजली बोर्ड को भी बर्फबारी से भारी नुकसान हुआ है। बिजली के सैंकड़ों खंबे टूटने से आपूर्ति बाधित हुई है। बिजली की आपूर्ति बाधित होने से पेयजल योजनाओं से पानी लिफ्ट नहीं हो पा रहा।

Live TV

-->

Loading ...