Hardeep Singh Puri, Ministry of Petroleum, rising prices of Petrol Diesel

Hardeep Singh Puri ने संभाला पेट्रोलियम मंत्रालय, Petrol-Diesel के बढ़ते दामों पर कही ये बात

नई दिल्ली: कैबिनेट मंत्री के रूप में प्रोन्नति के बाद हरदीप सिंह पुरी ने आज पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय का कार्यभार संभाल लिया। पेट्रोलियम मंत्री के तौर पर पुरी की सबसे बड़ी चुनौती पेट्रोल-डीजल की बेकाबू होती कीमतों पर लगाम कसने की होगी। हाल के दिनों में देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में काफी तेजी आई है। इस दौरान तेल की बढ़ती कीमतों से जुड़े एक सवाल के जवाब में पुरी ने कहा कि उन्होंने आज ही चार्ज संभाला है, थोड़ा वक्त दीजिए। उन्होंने कहा कि मंत्रालय की काम की पेचीदगियों को समझने के लिए उन्हें वक्त चाहिए।

पुरी आज दोपहर बाद पेट्रोलियम मंत्रालय पहुँचे जहाँ विभाग के निवर्तमान मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने प्रधान से कार्यभार ग्रहण किया। कार्यभार सँभालने के बाद पुरी ने कहा कि 'प्रधानमंत्री ने मुझ पर जो विश्वास दिखाया है उससे मैं गदगद हूं। उन्होंने मुझे इस अहम मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी है। हम धर्मेंद्र प्रधान के अच्छे काम को जारी रखेंगे। किसी भी इकॉनमी के लिए ऊर्जा अहम होती है। कोविड से पहले हमारी इकॉनमी 2.89 ट्रिलियन डॉलर की थी और हम इसे 5 ट्रिलियन डॉलर तक ले जाने का प्रयास कर रहे हैं। ऊर्जा के क्षेत्र में कई संभावनाएं और चुनौतियां हैं। हमें वक्त के हिसाब से टेक्नोलॉजी अपनानी होगी। दुनियाभर में इसमें जो बदलाव हो रहे हैं उससे हमारे पास बेहतरीन मौका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2030 तक देश की कुल ऊर्जा खपत में प्राकृतिक गैस की हिस्सेदारी बढ़ाकर 15 प्रतिशत करने का लक्ष्य रखा है। वह इसे पूरा करने के लिए काम करेंगे।'

उन्होंने कहा कि देश में कच्चे तेल और गैस का उत्पादन बढ़ाने के लिए उनका मंत्रालय प्रयास करेगा, ताकि देश को ऊर्जा के मामले में आत्मनिर्भर बनाया जा सके। केंद्रीय मंत्रिपरिषद् में कल की फेरबदल से पहले पुरी के आवास एवं शहरी मामले मंत्रालय और नागरिक उड्डयन मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार था। उन्हें कैबिनेट मंत्री के रूप में आवास एवं शहरी मामले के साथ पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की जिम्मेदारी दी है।

Live TV

-->

Loading ...