corona virus punjab news genome sequencing facility balbir sidhu

पंजाब में कोरोना के नए वेरिएंट की पहचान के लिए जीनोम सिक्वेंसिंग फैसिलिटी शुरु: बलबीर सिद्धू

चंडीगढ़ः पंजाब सरकार ने कोरोना वायरस के नए वेरिएंट की पहचान करने के लिए वायरस रिसर्च डायग्नोस्टिक लैब (वीआरडीएल) सरकारी मेडिकल कॉलेज पटियाला में स्थापित की गई है। यह अपनी किस्म की ऐसी पहली कोविड-19 जीनोम सिक्वेंसिंग सुविधा वाली लैब है। लैब में अब तक लगभग 150 नमूनों की जांच की जा चुकी है और किसी भी नमूने में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट की पहचान नहीं हुई।

स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू ने कहा कि इससे पहले कोविड के नए वेरिएंट के संदिग्ध मरीजों के सभी नमूने एनसीडीएस दिल्ली में भेजे जाते थे, जहां पुष्टि करने में एक महीने से अधिक समय लग जाता था। विशेषज्ञों के अनुसार यदि किसी विशेष क्षेत्र में कोविड के नए वेरिएंट का कोई मामला पाया जाता है तो वायरस के फैलाव को रोकने के लिए सभी संदिग्ध मरीजों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और टेस्टिंग करने की तुरंत जरुरत होती है। उन्होंने कहा कि जीनोम सिक्वेंसिंग फैसिलिटी की उपलब्धता से रिपोर्टें अब 5 से 6 दिनों में मिल रही हैं।  

Live TV

-->

Loading ...