Ganesh Chaturthi Special Ganesh Chaturthi 2021 Ganesh Chaturthi Puja Hartalika Teej Vidhi Muhurat

Ganesh Chaturthi: आज के शुभ दिन की शुरुआत के साथ जानिए पूजा विधि और मुहूर्त के बारे में खास, भूलकर भी न करें ये काम

आज से गणेश चतुर्थी के शुभ दिनों की शुरुआत हो चुकी है। इस बात से आप लोग बखूबी वाकिफ होंगे कि ये खास उत्सव पूरे 10 दिनों तक चलता है। साल 2021 में इस उत्सव की शुरुआत 10 सितंबर यानी आज से हो चुकी है। इसका समापन 19 सितंबर को अनंत चतुर्दशी के दिन होगा। जिसे गणेश विसर्जन के भी कहा जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को भगवान गणेश का जन्म हुआ था। तो आई जानिए आज के दिन की पूजा विधि के बारे में खास। 

गणेश चतुर्थी व्रत पूजन विधि:

- इस शुभ दिन पर सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें।

- इसके बाद तांबे या फिर मिट्टी की गणेश जी की प्रतिमा लें।

- फिर एक कलश में जल भरकर और उसके मुख को नए वस्त्र से बांध दें। फिर इस पर गणेश जी की स्थापना करें।

- गणेश भगवान को सिंदूर, दूर्वा, घी और 21 मोदक चढ़ाएं और उनकी विधि विधान पूजा करें।
इसके साथ गणेश जी की आरती उतारें और प्रसाद सबके बीच बांटे।

- श्रद्धालु 10 दिन तक चलने वाले इस उत्सव में गणेश जी की मूर्ति को 1, 3, 7 या 9 दिन तक अपने घर पर रख सकते हैं।

- ध्यान रहे कि गणेश जी की पूजा में तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल नहीं किया जाता है।

-गणेश पूजन में गणेश जी की एक परिक्रमा करने का विधान है।


गणेश चतुर्थी मुहूर्त:

जानकारी के लिए बता दें कि गणेश चतुर्थी पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 11.03 AM से दोपहर 01.33 PM तक रहेगा। इसकी शुरुआत 10 सितंबर को 12.18 AM से हो जाएगी और इसकी समाप्ति रात 09.57 बजे होगी। इस दिन वर्जित चन्द्रदर्शन का समय 09:12 AM से 08:53 PM तक रहेगा।


भूलकर भी न करें ये गलती: 

बता दें कि गणेश चतुर्थी के खास दिन पर चांद नही देखना चाहिए। मान्यता है कि अगर इस दिन आप लोग चंद्रमा के दर्शन करते हैं तो इससे कलंक लगने का खतरा रहता है। अगर भूल से चंद्रमा के दर्शन हो जाएं तब इस मंत्र का 28, 54 या 108 बार जाप करने लेना चाहिए। 

चन्द्र दर्शन दोष निवारण मन्त्र:
सिंहःप्रसेनमवधीत् , सिंहो जाम्बवता हतः।
सुकुमारक मा रोदीस्तव, ह्येष स्यमन्तकः।।

Live TV

Breaking News


Loading ...