From Ayodhya, Owaisi played

Ayodhya से ओवैसी ने ब्राह्मणों की सियासत पर खेला कार्ड, जानिए क्या है मामला

अयोध्या : जहां बसपा सुप्रीमो मायावती की पार्टी प्रदेश भर में ब्राह्मण सम्‍मेलन कर रही हैं, वहीँ व‍िधानसभा चुनाव के प्रचार के ल‍िए अयोध्या के रुदौली में पहुंचे ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (ए.आई.एम.आई.एम.) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने भी ब्राह्मणों की सियासत पर कार्ड खेला। ओवैसी ने पोस्टर में फैजाबाद शब्द को लेकर हुए विवाद पर कहा कि अयोध्या भी भारत में है, फैजाबाद भी भारत में है। फैजाबाद नाम से सरकार को जलन क्यों है? यहां तो अशफाक उल्लाह खान को फांसी दी गई थी। अशफाक उल्लाह खान और राम प्रसाद बिस्मिल की दोस्ती कैसी थी समझिए? उ

न्होंने कहा कि मंदिर पर हमला करने आए लोगों पर अशफाक उल्लाह गोली चलाने को तैयार थे। ब्राह्मणों की सियासत की कड़ी में ओवैसी ने अशफाक उल्लाह खान और रामप्रसाद बिस्मिल की दोस्ती का जिक्र करते हुए हिन्दू मुस्लिम एकता का उदाहरण दिया। राम प्रसाद बिस्मिल को पंडित राम प्रसाद बिस्मिल कहकर ओवैसी ने संबोधित किया। ओवैसी ने कहा कि हम कश्मीर गए तो अयोध्या भी जाएंगे। 

अयोध्या के रुदौली में असुदुदीन ओवैसी ने सपा, बसपा, कांग्रेस और भाजपा को जमकर कोसा। उन्होंने विधानसभा चुनाव को लेकर बिगुल फूंका और कहा कि आने वाले चुनाव को पार्टी लड़ने जा रही है, लेकिन ये 2017 वाली मजलिस नहीं है, अब हमारा संगठन मजबूत है, हमारी पहली कोशिश है कि प्रदेश में जो बड़ा प्रदेश है यहां से हमारी मुस्लिम लीडरशिप की शुरुआत हो। 

उन्होंने कहा कि आज जो लाचार है वो उत्तर प्रदेश का मुसलमान है, सेक्युलरिज्म के नाम पर मुसलमान ठगे गए हैं, फिरकापरस्ती को हराना होगा, रुदौली में हमें मजलिस का विधायक बनाना होगा, हम पर वोट कटवे का आरोप लगता है, लेकिन कोई यहां के मुस्लिम नेताओं का नाम नहीं लेता। ओवैसी ने रुदौली के ओवरब्रिज के बारे में कहा कि अगर बाबा से पूछेंगे ये क्यों नहीं बना तो बाबा कहेंगे नाम बदल दो उसका।

Live TV

Breaking News


Loading ...