Farmers Protest

केंद्र द्वारा पारित कृषि कानूनों के रोष स्वरूप किसानों ने भाजपा नेता नरेश महाजन के आवास के बाहर दिया धरना

बटाला (रमेश नोना) : केंद्र की भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों को लेकर किसानों का रोष थमने का नाम नहीं ले रहा। शनिवार को संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर पूरे प्रदेश भर में किसानों ने पारित कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग को लेकर विभिन्न नगरों में बीजेपी नेताओं के आवासों के बाहर रोष प्रदर्शन करते हुए उनके आवासों को घेरा तथा उन से आह्वान किया कि वे अपने हाईकमान से कह कर पारित तीनों कृषि कानूनों को रद्द करवाएं। 

बटाला में भी आज किसानों ने संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर क्रांतिकारी किसान यूनियन के नेतृत्व में प्रदर्शन किया जिसमें ऑल पंजाब आंगनवाडी यूनियन के सदस्यों ने भी किसानों के हक में मोदी सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन में भाग लिया। इससे पूर्व किसान उमरपुरा चौक में एकत्र हुए यहां से वे रोष मार्च करते हुए नगर के विभिन्न बाजारों से होते हुए ठठियारी गेट के बाहर भारतीय जनता पार्टी जिला बटाला के पूर्व प्रधान जो नगर काउंसिल बटाला के पूर्व प्रधान भी रहे हसीन नरेश महाजन के आवास के समक्ष पहुंचे। यहां पर किसानों ने धरना दिया केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की इस मौके पर आंगनवाडी यूनियन की शरणजीत कौर ने कहा कि किसानों की मांगे जब तक पूरी नहीं होती तब तक किसानों का संघर्ष जारी रहेगा। 

वही क्रांतिकारी किसान मोर्चा के माझा जोन के कन्वीनर वह जिला गुरदासपुर के इंचार्ज हरप्रीत सिंह काहलों ने इस मौके पर अपने संबोधन में मोदी सरकार को जमकर कोसा। उन्होंने नरेश महाजन सहित भाजपा नेताओं से अपील की कि अपने हाईकमान को कहकर पारित तीनों कृषि कानूनों को रद्द करवाएं।  उन्होंने कहा यह तीनों कृषि वास्तव में  काले कानून है जो किसानों के अधिकारों का हनन करते हैं तथा किसानों के लिए घातक हैं। उन्होंने ऐलान किया कि जब तक कानून वापस नहीं होते, किसानों का संघर्ष जारी रहेगा चाहे। इसके लिए उनको 2024 तक यह संघर्ष जारी रखना पड़ा तो वे पीछे नहीं हटेंगे। इस मौके पर उन्होंने केंद्र द्वारा पारित तीनों कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर रोष प्रदर्शन किया तथा केंद्र से मांग की कि कानूनों को तुरंत प्रभाव से रद्द कर किसानों को राहत दी जाए तथा किसानी की सुरक्षा यकीनी बनाई जाए। उन्होंने कहा आज उनके कार्यकर्ता बटाला कलानौर गुरदासपुर अमृतसर सहित कई नगरों में रोष प्रदर्शन कर रहे हैं। इस मौके पर भारी संख्या में  महिलाएं भी शामिल थी। 

किसानों के रोष प्रदर्शन को देखते हुए भाजपा नेता नरेश महाजन घर से बाहर निकले और किसानों से बातचीत की नरेश महाजन ने किसानों को आश्वस्त किया कि वे उनकी मांग को अपनी पार्टी के उच्च अधिकारियों के समक्ष जरूर रखेंगे और जो भी समाधान हो सकता होगा, वह करवाने का प्रयास करेंगे। इस मौके उन्होंने प्रदर्शनकारी किसानों को गर्मी को ध्यान के ध्यान में रखते हुए उन्हें ठंडे जल सेवा भी की नरेश महाजन ने बहुत ही बेबाकी के साथ वह बड़े दिल के साथ किसानों से कहा की रोष प्रदर्शन तो होते ही रहेंगे। आप प्रेम के साथ जल ग्रहण करें किसान जो अपना संघर्ष कर रहे हैं यह उनका मौलिक अधिकार है उसके लिए उनके मन में कोई द्वेष भावना नहीं है। 






Live TV

-->

Loading ...