ED Raid, 2 Former Ministers, Karnataka

Karnataka में 2 पूर्व मंत्रियों के खिलाफ 25 घंटे तक चली ED की छापेमारी खत्म

बेंगलुरुः प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कांग्रेस नेता और विधायक बी. जेड. जमीर अहमद खान और पूर्व मंत्री आर. रोशन बेग, जो कथित तौर पर करोड़ों के आईएमए पोंजी घोटाले में शामिल हैं, उनके खिलाफ अपना व्यापक तलाशी अभियान चलाया। एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी हैं। अधिकारियों ने कहा कि ईडी के 100 से अधिक अधिकारियों ने गुरुवार की तड़के दोनों नेताओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू किया था और तलाशी लगभग 24 घंटे से अधिक समय तक चली।

सूत्रों के अनुसार, एक साथ तलाशी अभियान चलाने के लिए ईडी के 100 से अधिक अधिकारियों ने पूरे बेंगलुरु में छापेमारी की हैं। खान की संपत्तियों में तलाशी अभियान करीब 23 घंटे तक चला जबकि बेग के परिसरों की तलाशी पूरी करने में एजेंसी को 25 घंटे लगे।

चामराजपेट से चार बार विधायक रहे खान ने अपने परिसरों और संस्थाओं पर छापेमारी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए संवाददाताओं से कहा कि ईडी की छापेमारी एक शानदार बंगले से संबंधित थी, जिसे उन्होंने कुछ महीने पहले बेंगलुरु के छावनी क्षेत्र में बनाया था। उन्होंने यह स्पष्ट करने की कोशिश करते हुए कि उनकी संपत्तियों पर की गई छापेमारी करोड़ों रुपये के आईएमए पोंजी घोटाले के संबंध में नहीं थी। उन्होंने कहा कि मेरे कुछ विरोधियों ने उनसे (ईडी) शिकायत की हो सकती है और उन्होंने इसलिए ही मेरे भाइयों और कुछ करीबी रिश्तेदारों पर भी इसी तरह के तलाशी अभियान चलाने के अलावा मेरी संपत्तियों पर छापेमारी की होगी।’’

खान ने कहा कि उन्होंने अपनी गाढ़ी कमाई (व्हाइट मनी) से अपना आलीशान घर बनाया और एक पैसा भी गलत तरीके से अर्जित नहीं किया गया है। विपक्ष के नेता सिद्धारमैया के करीबी सहयोगी खान ने कहा कि ईडी ने उनके दस्तावेज छीन लिए हैं और उन्हें निर्देश दिया है कि जब भी ईडी उन्हें या उनके परिवार के सदस्यों को आगे की पूछताछ के लिए समन करे तो वे उपलब्ध रहें।

वहीं पूर्व मंत्री आर. रोशन बेग ने अपने परिसरों पर छापेमारी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मैंने अधिकारियों को पूरा सहयोग दिया है। मैंने उनकी सभी शंकाओं का जवाब दिया है। जांच तीन-चार घंटे में समाप्त हो जानी चाहिए थी, लेकिन मुझे नहीं पता कि किस वजह से उन्हें इतना समय लगा। अधिकारियों ने मुझसे मनी लॉन्ड्रिंग समेत कई मुद्दों पर सवाल पूछे।

आईएमए और कर्नाटक के अन्य घोटालों में सक्षम प्राधिकारी ने 6 जुलाई को बेग से संबंधित लगभग 20 चल और अचल संपत्तियों को पहले ही कुर्क कर लिया है, जिनकी कीमत 15 करोड़ रुपए से अधिक है।

Live TV

-->

Loading ...