Tibet

तिब्बत में “पेय जल की मुश्किल” पूरी तरह से दूर

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के जल संसाधन विभाग से मिली खबर के अनुसार, तिब्बत की शांतिपूर्ण मुक्ति के बाद पिछले 70 सालों में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी और सरकार ने तिब्बती किसानों और चरवाहों के पेय जल समस्या के समाधान के लिए कई कदम उठाए। सीपीसी की 18वीं राष्ट्रीय कांग्रेस (नवंबर 2012) के बाद से लेकर अब तक, तिब्बत ने ग्रामीण क्षेत्रों में पेय जल की सुरक्षा को प्राथमिकता दी। अब तक, पूरे स्वायत्त प्रदेश में कृषि और पशुपालन क्षेत्रों में पेय जल सुरक्षा के सवाल का बुनियादी तौर पर समाधान किया जा चुका है, 20 लाख से अधिक किसानों और चरवाहों को इससे लाभ मिला है।   

तिब्बत में जल संसाधन और जल ऊर्जा प्रचुर मात्रा में है, पूरे तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के भीतर कई नदियां और झीलें हैं, जिसे “एशियाई जल मीनार” माना जाता है। आजकल तिब्बत में अधिकांश कृषि और पशुपालन क्षेत्रों में पानी की पहुंच है, और नल का पानी पिया जा सकता है। यह न केवल लोगों के लिए पीने के पानी की सुरक्षा सुनिश्चित करता है, बल्कि पेय जल खोजने और पानी को पीठ पर लादने वाली ग्रामीण श्रम शक्ति को भी आराम दिलाता है। युवा और मध्यम आयु वर्ग के श्रमिक ग्रामीण उत्थान और अच्छे जीवन पाने के लिए काम कर सकते हैं।  

नल के पानी की प्राप्ति के बाद, अधिकांश तिब्बती किसानों और चरवाहों ने वाशिंग मशीन, सोलर वॉटर हीटर और अन्य घरेलू उपकरण खरीदे। उनके जीवन की गुणवत्ता में काफी सुधार हुआ है, और स्वास्थ्य व स्वच्छता के बारे में जागरूकता भी काफी बढ़ी है। कुछ स्थानों पर जल आपूर्ति और जल निकासी का एकीकरण को मूर्त रूप दिया गया है, जिससे ग्रामीण जीवन पर्यावरण में प्रभावी रूप से सुधार हुआ है और सुंदर व रहने योग्य गांवों के निर्माण को मजबूती से बढ़ावा मिला है।

आंकड़ों के मुताबिक, “13वीं पंचवर्षीय योजना”(2016-2020) के दौरान तिब्बत ने 17,581 ग्रामीण पेय जल सुरक्षा परियोजनाओं में सुधारने के लिए कुल 4.324 अरब युआन का निवेश किया है। तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के जल संसाधन विभाग के प्रधान सुन श्येनचोंग ने कहा कि अगले चरण में तिब्बत केंद्रीकृत जल आपूर्ति परियोजनाओं को लागू करेगा, आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में शहरी जल आपूर्ति पाइप नेटवर्क के विस्तार को बढ़ावा देगा, ताकि अधिक लोग सुरक्षित और स्वच्छ जल पी सकें। 
( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )

Live TV

-->

Loading ...