Vishwakarma Puja

Vishwakarma Puja 2020: शास्त्रों के अनुसार विश्नकर्मा पूजा के दिन भूलकर भी न करें ये पांच काम, हो सकता है नुकसान

जैसा की आप सब जानते हैं कि आज विश्वकर्मा जयंती है।  शास्त्रों के अनुसार विश्वकर्मा एक महान ऋषि , शिल्पकार और ब्रह्मज्ञानी थे। ऋग्वेद में भी उनका उल्लेख मिलता है । मान्यता है कि उन्होंने ही देवताओं के घर, नगर, अस्त्र-शस्त्र आदि का निर्माण किया था। हस्तिनापुर, द्वारिका, इंद्रपुरी, पुष्पक विमान, भगवान शिव का त्रिशूल जैसे कई भवनों और वस्तुओं के निर्माता विश्वकरमा ही हैं। बकर्ण का कुंडल, विष्णु का सुदर्शन चक्र आदि का निर्माण भी उन्होंने ही किया था। आज  सुबह  स्नान करके  रोजाना उपयोग में आने वाली मशीनों को साफ कर उनको धूप दीप दिखाकर प्रणाम करना चाहिए। विश्वकर्मा पूजा के कुछ नियम बताए गए हैं । जिनका जरूर पालन करना चाहिए। औजारों, मशीन और उपकरणों की पूजा अर्चना करना चाहिए। इससे कभी भी धन की कमी नहीं होती है। तो आईये जानते हैं वे कौन से पांच काम हैं जो भूल कर भी नहीं करने चाहिए।  

- शास्त्रों के अनुसार इस दिन तामसिक भोजन यानी मांस-मंदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे आपको रोजगार और व्यापार पर बुरा असर पड़ता है। 
-शास्त्रों के अनुसारविश्वकर्मा पूजा के दिन असहाय और गरीब लोगों को दान जरूर करना चाहिए। इससे आपके घर में बरकत बनी रहेगी।
-शास्त्रों के अनुसारआपको बता दें कि भगवान विश्वकर्मा को देवताओं का शिल्पकार माना जाता है। इसलिए आज के दिन किसी भी औजार का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। 
-शास्त्रों के अनुसार इसके अलावा अपनी औजारों को व्यस्थित तरीके से जरूर रखें। 
-शास्त्रों के अनुसार आज के दिन घर पर मौजूद बिजली के उपकरण, गाड़ी आदि की सफाई डरूर करे। इसके साथ ही गाड़ी आदि की अर्चना करे।